विदेशी पर्यटक का रुपयों से भरा पर्स लौटाया

0
281


ऋषिकेश: उत्तराखंड को यूं ही देवभूमि नहीं कहा जाता। यहां के जनमानस में अतिथियों के सत्कार और ईमानदारी की जो परंपरा है, उसके विदेशी भी कायल हैं। अतिथि देवो भव: की ऐसी ही मिसाल तीर्थनगरी के एक टैक्सी चालक ने विदेशी पर्यटक का रुपयों से भरा पर्स लौटाकर दिखाई।

जानकारी के मुताबिक फ्रांस निवासी अरनुड डेनिस कलाउड ऋषिकेश घूमने आए हैं। रविवार को प्रात: वह जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे। ऋषिकेश आने के लिए अरनुड डेनिस ने जौलीग्रांट से एक टैक्सी बुक की। मुनिकीरेती पहुंचने पर उन्होंने टैक्सी का भाड़ा चुकाया और आगे चल दिए। कुछ देर बाद जब टैक्सी चालक कीर्ति ¨सह नेगी वापस आने के लिए टैक्सी में बैठे तो पिछली सीट पर पड़े एक पर्स पर उनकी नजर पड़ी। उन्होंने देखा कि विदेशी पर्यटक का पर्स टैक्सी में ही छूट गया था। चालक ने कार से पर्स निकाल कर आसपास क्षेत्र में विदेशी की काफी तलाश की, लेकिन विदेशी का कुछ पता नहीं चल पाया। थक-हार कर चालक कीर्ति ¨सह नेगी इस पर्स को लेकर मुनिकीरेती थाने पहुंचे और पूरा मामला बताने के बाद यह पर्स पुलिस के सुपुर्द कर दिया। पर्स में 12 हजार यूरो जिनका भारतीय मूल्य करीब 84 हजार रुपये रखे थे। कुछ देर बाद पर्स तलाशता हुआ और पर्स खोने की सूचना देने विदेशी पर्यटक भी मुनिकीरेती थाने पहुंच गया। पुलिस ने फिर से चालक कीर्ति ¨सह नेगी से संपर्क साधा और विदेशी पर्यटक की पहचान के लिए उन्हें थाने बुलाया। विदेशी की पहचान के बाद थाना प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार ने यह पर्स विदेशी पर्यटक के सुपुर्द कर दिया। विदेशी पर्यटक ने चालक की ईमानदारी की प्रशंसा की और कहा कि उत्तराखंड की खूबसूरती और यहां के लोगों की ईमानदारी को लेकर जितना उन्होंने सुना था, उससे बढ़कर यहां आकर अनुभव किया।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here