डीएम एन पी सिंह के निर्देश पर राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम का पालन कराने के लिये चलाया गया छापामार अभियान

0
112

गौतमबुद्धनगर (ब्यूरो)- पूरे जनपद में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत आम नागरिकों को मिलने वाला राशन सही समय एवं निर्धारित मानकों के अनुसार अनवरत रूप से मिले इसके लिये जिलाधिकारी एन पी सिंह के द्वारा निरन्तर गम्भीरता दिखाई जाती रही है। उन्हीं के निर्देश पर माह मार्च एवं अपै्रल 2017 के तहत विभागीय अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर राशन की दुकानों की आकस्मिक जॉच करायी गयी। जिसके दौरान 82 निरीक्षण किये गये और 22 दुकानों पर आकस्मिक रूप से छापे मारे गये।

इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुये जिलाधिकारी एन. पी. सिंह ने बताया कि निरीक्षण एवं अधिकारियों के द्वारा छापेमारी के दौरान एक प्राथमिकी दर्ज हुयी और 3 दुकानों का निलम्बन हुआ तथा 3 दुकानों को निरस्त किया गया हैं। इस अभियान के दौरान 14 हजार रूपये की प्रतिभूत की राशि जब्त की गयी। प्रवर्तन कार्यवाही के दौरान 42 कुन्तल गेहूॅ एवं 48 कुन्तल चावल बरामद हुआ जिसकी अनुमानित लागत 22900 रूपये पायी गयी।

उन्होनें बताया कि इसीप्रकार बीते वित्तीय वर्ष में 1002 निरीक्षण एवं 157 छापे लगवाये गये जिसके सापेक्ष 4 प्रकरणों में प्राथमिकी दर्ज हुयी 2 व्यक्तियों की गिरफतारी हुयी और 21 दुकानें निलम्बित तथा 18 दुकानों को छापामार अभियान के दौरान निरस्त किया गया है। डीएम ने बताया कि इस कार्यवाही के दौरान 173500 रूपये की प्रतिभूति राशि जब्त की गयी।

वार्षिक प्रवर्तन कार्य के दौरान 63.5 कुन्तल गेहूॅ, 52 कुन्तल चावल, 59 कुन्तल चीनी, 800 लीटर मिट्टी का तेल, एक टाटा ए0सी0ई0 तथा 27 घरेलू सलेन्डर बरामद हुये जिनकी अनुमानित लागत 2 लाख 11 हजार रूपये रही।

जिलाधिकारी के निर्देश पर दिनॉक 8 अपै्रल 2017 को क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी विजय वहादुर सिंह द्वारा नोएडा एवं विसरख की 5 दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। जहॉ पर कोई भी पर्यवेक्षण अधिकारी राशन वितरण कराते हुये नहीं पाया गया। अनुपस्थित पाये गये पर्यवेक्षण अधिकारियों में चरण सिंह एडीओ, हरपाल सिंह प्रा0सहायक, विष्णुदत्त सहायक लेखाकार, राकेश कुमार प्रा0 सहायक कृषि एवं सत्यजीत शर्मा सम्मलित है। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों के सम्बन्धित के विरूद्ध आवश्यक अनुशासनात्मक कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है।

डीएम एन पी सिंह ने बताया कि उनका निरन्तर प्रयास है कि सभी राशन विक्रेताओं के द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत मानकों के अनुसार राशन उपलब्ध कराया जाये। इसके लिये भविष्य में भी निरन्तर छापेमारी जारी रखी जायेगी और यदि कोई भी दुकानदान वितरण में दोषी पाया जाता है तो उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

रिपोर्ट- राकेश चौहान (सूचनाधिकारी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here