गेस्ट हाउस कांड – हत्या या आत्महत्या सिगरा पुलिस के लिए चुनौती

वाराणसी (ब्यूरो) – शहर में पुलिस के द्वारा हत्याओं के बाद हत्यारों के धर पकड़ को लेकर प्रशासन द्वारा निष्कर्ष पर न निकलना वाराणसी पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई है, पिछले जेएसबी मॉल में तिहरे हत्याकांड के अधूरे गुत्थी को आधा अधूरा छोड़ सवाल के घेरे में है अपने वर्क आउट को लेकर वाराणसी पुलिस अपने हाथ से पीठ खुद ही थपथपाते नजर आ रही हैं |

कैंट रेलवे स्टेशन के सामने शिव शक्ति गेस्ट हाउस में हुए आत्महत्या या हत्या को लेकर पुलिस पकड़ से काफी दूर कैंट रेलवे स्टेशन के सामने शिव शक्ति गेस्ट हाउस में बीते 22 नवंबर को 28 वर्षीय राजू लोचन के संदिग्ध मौत के मामले में पुलिस ने 5 दिनों बाद भी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकती है राजू के भाई राजीव सिंह का कहना है कि राजू की हत्या की गई है जिसमें होटल में साथ जाने वाली युवती व उसका परिवार शामिल है राजू के भाई का कहना है कि सिगरा पुलिस राजू की हत्या को आत्महत्या साबित करना चाहती है |

थाना सिगरा की चौकी रोडवेज का क्षेत्र हमेशा विवादों में पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी को कोई सुध नहीं है, वाराणसी के थाना सिगरा के रोडवेज क्षेत्र का एरिया जिस समय दर्जनों गेस्ट हाउस संदिग्ध वह संदेह के घेरे में हैं सूत्रों की मानें तो इन गेस्ट हाउसों में देह व्यापार काफी तेजी से चलता है इन गेस्ट हाउस के प्रबंधकों द्वारा ऊंचे दामों में कॉल गर्ल ओं की मुहैया कराई जाती हैं इन्हीं गेस्ट हाउस ओं में आए दिन शहर जिले के बाहर के अपराधी भी भाग कर पकड़ा चुके हैं |

हो सकता है बड़ा कोई वारदात मगर सिगरा पुलिस की जहमत को उठाने को तैयार नहीं
आए दिन यात्रियों राहगीरों के रेलवे स्टेशन के सामने किसी परिवार के साथ छेड़छाड़ आए दिन होती है, अय्याशी को लेकर पिछले रिकॉर्ड को देखें तो सिगरा थाना में इसी क्षेत्रों में कुछ हत्या के मामले दर्ज हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here