गुजरात में 18 शेरों पर चलेगा मुकदमा, दोषी पाए गए तो होगी उम्रकैद

0
422

अहमदाबाद- गुजरात के सासण में एक अनोखा मामला प्रकाश में आया है | यहाँ वन विभाग ने 18 शेरों के ऊपर मुकदमा दर्ज किया है | अगर मुकदमे में ट्रायल के दौरान यह शेर दोषी पाए जाते है तो इन्हें आजीवन कारावास की सजा भी मिल सकती है |

क्या है पूरा मामला-
गुजरात के अहमदाबाद के सासण में लोगों के भीतर शेरों का आतंक और भय व्याप्त है | दरअसल पिछले 3 ,महीनों में यहाँ जंगलों के राजा ने कुल 4 लोगों को अपना शिकार बना लिया है | जिसके बाद से ही लोगों के भीतर इन शेरों को लेकर आतंक और भय बना हुआ है | इन शेरों ने 4 लोगों को तो मौत के घाट उतार बाकी के अन्य 6 लोगों को घायल कर दिया है |

वन विभाग ने शेरों को लिया पकड़-
वन विभाग ने आरोपी 18 शेरों को पकड़ कर ऊनको जूनागढ़ के सक्कर बाग चिड़ियाघर में रखा गया है | किस शेर ने इंसानों का शिकार किया है और किस शेर ने नहीं इसकी वैज्ञानिक पद्धति से जांच भी की जाएगी | लोगों को बनाया शेर ने अपना शिकार इसे फॉरेंसिक एविडेंस भी कहते हैं | और इनके खिलाफ जुटाए गए सबूत वन विभाग के विशेष बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत भी किए जाएंगे |

इस बोर्ड में वन विभाग के उच्च अधिकारी होते हैं बोर्ड सभी तथ्यों के मद्देनजर नरभक्षी शेर को हमेशा के लिए किसी चिड़ियाघर में भी बंद करा सकते है | पकड़े गए सभी 18 शेरों में से किस शेर ने मानव का शिकार किया यह जानने के लिए पहले जिस जगह पर व्यक्ति का शिकार हुआ है उस जगह जाकर शेर का फुटप्रिंट लिया जाएगा | यह फुटप्रिंट किस शेर का है इसे पकड़े गए शेरों के फुटप्रिंट से मिलाया जाएगा |

इसके लिए पकड़े गए शेर के मल का सात दिन तक परीक्षण किया भी गया जाएगा | जिसमें किस शेर के मल में मानव मांस शिकार होने वाले शख्स के कपड़े और अवशेष की जांच की जाएगी | इसके साथ ही शेर के हर दिन के व्यवहार को भी देखा जाएगा | यह तमाम सबूत जिस शेर के खिलाफ होगे उसे सजा दी जाएगी |

जो शेर दोषी नहीं होंगे उन्हें फिर से जंगलों में छोड़ दिया जाएगा लेकिन जो शेर दोषी पाए जायेंगे उन्हें जिंदगी भर के लिए किसी चिड़ियाघर में कैद कर दिया जाएगा |

 
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here