ग्वालियर में कचरे के ढेर मिली की हुई आँखें …

0
840
दान की हुई आँखें
दान की हुई आँखें

मध्यप्रदेश के ग्वालियर स्वास्व्थ्य विभाग ऐसा लग रहा हैं कि जैसे लापरवाही की उसने सभी हदों को ही पार कर दिया हैं I यहां के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल जेएएच के कचरे में दान की आंखें मिली हैं। इस मामले में संभागायुक्त के. के. खरे ने नेत्र विभाग के अध्यक्ष डा. यू. सी. तिवारी सहित तीन को निलंबित कर दिया है। ग्वालियर निवासी किशन गंभीर ने अपनी मां के निधन के बाद उनकी आंखों का दान किया था, मगर गुरुवार को आंखें कचरे में होने का खुलासा होने से वे बेहद दुखी हैं।

दान की हुई आँखें
दान की हुई आँखें

 

किशन का कहना है कि जेएएच के इस रवैये से वह बेहद आहत हैं और अपनी मां का दोबारा श्राद्ध करने जा रहे हैं। उन्होंने तो अपनी मां की आंखें इसलिए दान की थी ताकि दूसरे का जीवन रोशन हो और मां की यादें जिंदा रहे मगर ऐसा हो न सका। दान की आंखें अस्पताल के कचरे में मिलने का खुालासा होने के बाद गुरुवार को उन परिवारों के लोगों का तांता लगा रहा जिन्होंने अपने प्रियजन की मरणोपरांत आंखें दान की है। कई तो ऐसे लोग थे जिन्होंने दान की गई आंखें तक वापस मांग डाली।

news credti and photo: khbar mantra

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

two × 4 =