बाजार की तंग सड़कों से हटाये गये हथठेले वाले, ठेले हटने से बाजार लगा खुला खुला

0
62

मैनपुरी (ब्यूरो)- स्वच्छ नगर, अतिक्रमण मुक्त नगर जिसका संदेश हर तरफ सुनाई दें की तर्ज पर कार्य करने में आजिज उप जिलाधिकारी सदर ने आखिर गुरूवार की दोपहर नगर पालिका प्रशासन के साथ सड़कों पर मनमाने ढंग से बिक्री करने वालें हाथठेलों को आखिर कोतवाली के समीप लगाकर अपना कारोबार करने की सीख देते हुये। उन्हें तरीके से लगवा दिया हालांकि कुछ हठी दुकानदारों ने प्रशासन के इस कदम का विरोध करने का प्रयास भी किया। परन्तु पुलिस बल के आगे वह ज्यादा नहीं बोल पाये।

रचनात्मक तरीकें से प्रशासनिक आदेशों को लागू कराने में माहिर उप जिलाधिकारी सदर अमित कुमार करीब एक माह से नगर को अतिक्रमण मुक्त करने के लिये प्रयास रत  दिख रहे है। उन्होनंे कई दिन कपड़ा मार्केट देवी रोड़, संता बंसता चैराहा, घंटाघर लंेनगंज और कचहरी रोड़ जैसे व्यस्तम बाजार में सड़क घेर कर व्यापार करने वालों को कई नसीहतें देते हुये समझाया कि जो सामान आप सड़क पर बेचना चाहते है वह दुकान के अंदर भी बिक सकता है। आपके द्वारा सड़क घेरने से जहां नाले नालियों में गंदगी एकत्र हो जाती है वही सड़क पर वेतरतीव फैले कूड़े को देखकर बाजार आने वाले लोग आपके नगर का अच्दा संदेश लेकर नहीं जाते है। वहीं कुछ लोगों ने जिलाधिकारी से सम्पर्क कर सुझाव दिया था कि बड़े चैराहे से और पुराने बस स्टेण्ड तक, संता बसंता से घंटाघर तक, घंटा घर से पुरानी तहसील चैराहे तक दुकानदारों के अलावा हथठेला वाले भी सड़क घेर कर अपना व्यापार करते है। जिससे खरीददारों और राहगीरों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस संबंध में उप जिलाधिकारी ने समाज में रचनात्मक सहयोग करने वालों को विश्वास में लेकर नगर की सड़कों से हथठेलों द्वारा किया जा रहा अस्थाई अतिक्रमण हटाने का निर्णय ले लिया।

उन्होने स्वेच्छा से प्रशासन द्वारा चयनित जगह पर हथठेला लगाने वाले पचास ठेले वालों के नाम अपनी डायरी में नोट कर लिये। गुरूवार की दोपहर बाद उप जिलाधिकारी अमित कुमार, नगर पालिका अधिशाषी अधिकारी रामपाल और भारी पुलिस वल के साथ बाजार में पहुच गये और उन्होने बाजार में अपने तरीके से फल, सब्जी आदि बेच रहे। ठेले वालों को कोतवाली और उसके आसपास अपना हथठेला लगाने के लिये बाजार से हटा दिया। देर सायं तक अधिकांश ठेले कोतवाली और उसके आस-पास अपना व्यापार करते नजर आ रहे थे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY