गजब ! हाजिरी बनाकर रहते थे गायब, खुली पोल तो लगे हाथ में

0
60

बलिया(ब्यूरो)- बहुत मजाक कर लीजिए लोगों को धोखा दे दिया अब नहीं चलेगा, जी हां आज चिकित्सकों-कर्मचारियों की लेटलतिफी के खिलाफ छात्र संघ, हियुवा तथा भाजपा कार्यकर्ताओं ने शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोटवां पर जमकर हंगामा किया। सूचना पर एसडीएम ने कानूनगो व लेखपाल को भेजकर जांच रिपोर्ट मंगवाया।

पीएचसी कोटवा पर तैनात अधिकतर स्वास्थ्यकर्मी शुक्रवार को ही शनिवार की हाजिरी बनाकर निकल जाते है। इसकी शिकायत मिलने पर शुक्रवार को छात्र, हियुवा तथा भाजपा कार्यकर्ता शनिवार की सुबह पीएचसी पहुंच गये। उपस्थिति पंजिका पर चार डाक्टर व 26 कर्मचारियों का हस्ताक्षर बना था, जबकि ड्यटी पर तीन डाक्टर तथा 10 कर्मचारी ही पहुंचे। वह भी सुबह आठ बजे की बजाय 09 से साढ़े 10 बजे तक। शेष चिकित्सक व कर्मचारी दस्तखत के बाद भी नदारद रहे। चिकित्सकों-कर्मचारियों की लेटलतिफी तथा मनमानी से नाराज नेताओं ने पीएचसी के मुख्य द्वार का दरवाजा बन्द कर दिया। रोगियों की असुविधा को देखते हुए दरवाजा खोला भी, लेकिन उपस्थिति रजिस्टर अपने कब्जे में लेकर। हंगामा चलता रहा।

इसकी जानकारी मिलते ही एसडीएम अवधेश कुमार मिश्र ने कानूनगो विनोद कुमार व लेखपाल मदन यादव को मौके पर भेजा तो मामला शान्त हुआ। कानूनगो व लेखपाल ने हंगामा करने वाले नेताओं को आश्वासन दिया कि जांच रिपोर्ट एसडीएम को सौंप दिया जाएगा, जिसके अनुसार कार्रवाई होगी। वहीं, उपस्थित डॉ. बासुदेव गुप्ता, डॉ. रफीउल्लाह ने बताया कि स्वस्थ केन्द्र में चिकित्सकों का आवास जर्जर होने की वजह से वे जिला मुख्यालय पर रहते है। वहां से आने में कभी-कभी देर हो जाती है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here