जिसने देश को विरोधियों की आँख में आँख डालकर लड़ना सिखाया आज वह हुए 43 के

0
943

saurav ganguli

भारत को जुझारू और स्वाभिमान के साथ विदेशियों का मुकाबला करना सिखाने वाले बंगाल टाइगर, दादा आदि-आदि अन्य नामों से मशहूर पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली आज 43 सालों के हो गए हैं I आइये आज देश के सबसे अधिक मशहूर और सबसे ज्यादा चर्चित इस खिलाड़ी के बारे में कुछ जानकारी हासिल करने का प्रयास करते हैं I

पूर्व दिग्गज कप्तान के बारे में कुछ बातें ऐसी हैं जो बहुत प्रसिद्द हैं आज उनमें से कुछ एक हम आपके साथ साझा कर रहे हैं I

आपने हमेशा ही सौरभ गांगुली को बायें हाथ से बल्लेबाजी करते हुए देखा होगा और दायें हाथ से गेंदबाजी करते हुए, लेकिन क्या आपको यह पता हैं कि सौरभ बचपन में बायें नहीं बल्कि दायें हाथ से बल्लेबाजी करते थे और उनके भाई बायें हाथ से चूँकि सौरभ उन्ही के सामान का प्रयोग करते थे इसलिए उन्हें भी बायें हाथ से बल्लेबाजी करने की आदत डालनी पड़ी और बायें हाथ से बल्लेबाजी और दायें हाथ से गेंदबाजी करने वाले वह भारत के पहले अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी बने I

सौरभ गांगुली ने अपने क्रिकेट करियर की शरुआत वर्ष 1992 में हुई भारत और आस्ट्रेलिया के बीच की सीरिज से शरू किया था लेकिन उन्हें उस मैच के बाद 4 सालों तक अंतर्राष्ट्रीय खेल से दूर रहना पड़ा था I गांगुली के प्रशंसक अक्सर ऐसा कहते हैं कि जब दादा को पहले मैच में सीनियर खिलाडियों के लिए ड्रिंक्स लेकर ग्राउंड में जाने के लिए कहा गया था तो उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया और इसी के चलते उन्हें 4 सालों तक बाहर बैठना पड़ गया था I

सचिन तेंदुलकर और सौरभ गांगुली इन दोनों खिलाडियों ने भारतीय क्रिकेट को उस उंचाई पर पहुंचाया हैं जो अपने आप में एक बहुत ही बड़ी बात हैं इन दोनों की जोड़ी ने दुनिया भर में एक साथ मिलकर 6609 रन बनाये हैं, और इन दोनों का रन औसत 49.32 का हैं जो दुनिया किसी भी जोड़ी के लिए रिकार्ड हैं I

1992 से 1996 के बाद जब देश के इस महान खिलाड़ी को भारतीय टीम में जगह मिली तो गांगुली को दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेटर देश इंग्लैण्ड का दौरा करना था, जहाँ सौरभ ने अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतक जड़ दुनिया को अपनी उपस्थिति का एहसास करवा दिया और इतना ही नहीं इस महान खिलाड़ी ने मैच की दूसरी पारी में भी एक शतक जड़ दिया I उसके बाद जब गांगुली भारत लौटे तो मैंन ऑफ़ द सीरिज लेकर I

भारत आने के बाद सौरभ गांगुली ने अपनी बचपन की दोस्त गर्ल फ्रेंड डोना के साथ शादी कर ली, और इस बात की कानोकान किसी को खबर भी नहीं चली, जब घरवालों को इस बात का पता चला तो सभी प्रारंभ में बहुत नाराज हुए लेकिन बाद में इन दोनों को स्वीकार कर लिया गया I

सौरभ गांगुली अपनी पत्नी और बेटी के साथ (photo credit saurav fans FB page)
सौरभ गांगुली अपनी पत्नी और बेटी के साथ (photo credit saurav fans FB page)

सौरभ के बारे में कहा जाता हैं कि पिच चाहे कोई भी हो सौरभ जब मैदान में बल्लेबाजी करने के लिए उतरते हैं तो वह पिच उनके अनुकूल बन ही जाती हैं I

सौरभ का ऑफ़ स्टंप पर शॉट खेलने का अंदाज ही सबसे जुदा हैं, कहा जाता हैं कि बार वाल ऑफ़ चाइना के नाम से मशहूर बल्लेबाज राहुल द्रविण ने कहा था की भगवान् के बाद अगर ऑफ़ स्टंप पर सबसे अच्छा शॉट कोई लगा सकता हैं तो वह गांगुली हैं I

सौरभ ने दुनिया के सामने आंख में आँख डालकर भारतीय खिलाडियों को लड़ना और जीतना सिखाया हैं I याद होगा कि दुनिया के सबसे पुराने और चर्चित मैदान लॉर्ड्स में सौरभ ने अपनी टी.शर्ट उतार का जीते हुए मैच पर उन्होंने ख़ुशी जाहिर की थी I ऐसा उन्होंने इसलिए किया था क्योंकि उससे पहले इंग्लैण्ड के एन्ड्र्यू फ़्लिंटॉफ़ ने भारत में आकर ऐसा ही किया था, जिसका जवाब गांगुली ने उन्ही की भाषा में और उन्ही की धरती पर उन्ही के लोगों के सामने उन्हें दे दिया I

ऐसे हैं सौरभ गांगुली !!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here