हरहुआ के अहीरान मे मिलीं अतिकुपोषित बच्ची

0
74

चाँदमारी,वाराणसी(ब्यूरो)-  शुक्रवार को राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम हरहुआ विकास खंड के अहीरान गांव में पहुँची । टीम ने गांव की तीन आंगनबाड़ी केन्द्रों पर उपस्थित बच्चों का स्वास्थ्य जांच किया जिसमे 4 बच्चे कुपोषित पाये गये ।

वहीं अहीरान के एक केन्द्र पर अब तक की सबसे खतरनाक स्तर की कुपोषित बच्ची कुसुम उर्फ प्रीति मिली । नोडल मेडिकल आफिसर डा. अब्दुल जावेद ने बताया की राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम ब्लाक मे पिछले 5 सालों से चल रहा है लेकिन यह बच्ची अब तक की सबसे अधिक कुपोषित मिली है ।

डा. जावेद ने बताया की यह बच्ची आंगनबाड़ी कार्यकत्री उषा यादव के केन्द्र पर मिली जिसकी उम्र 3 वर्ष 9 महीना है और वजन मात्र 3.7 किलोग्राम। जबकि कुसुम के उम्र के बच्चों का वजन लगभग 12.3 किलोग्राम होना चाहिये|

डा. जावेद के अनुसार बच्ची के दिल मे भी छेद है जिसकी वजह से वह कुपोषण के खतरनाक स्तर पर पहुँच गयी है और उसके शरीर मे कोई विकास नही हो पा रहा है । टीम ने उसे तत्काल पं दिन दयाल उपाध्याय अस्पताल स्थित एन आर सी के लिये रेफर कर दिया ।

कुसुम के माँ बाप मज़दूरी करके जीवन यापन करते हैं । वहीं अन्य तीन कुपोषित बच्चों में अनुज,विक्की और लकी रहे जिन्हें मेडिकल टीम ने जांच के बाद हरहुआ पी एच सी के लिये रेफर कर दिया ।

टीम मे नोडल मेडिकल आफिसर डा. अब्दुल जावेद, डा. शिवम पाण्डेय, डा. शैलेन्द्र कुमार, डा. अरविन्द कुमार, विनोद, नदीम अली, गीता देवी, एवं रंजना कुमारी रहे ।

रिपोर्ट-नागेंद्र कुमार यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY