हसनगंज सीएससी में फ़ेल हैं सरकार के सभी प्रयास

0
91

उन्नाव(ब्यूरो)- नई सरकार के सख्त निर्देशों के बावजूद भी हसनगंज सीएससी में बदलाव होने का नाम नहीं ले रहे हैं जननी सुरक्षा योजना की प्रसूता बेड, पानी, पंखे की हवा वह भोजन ना मिलने से फर्श पर ही लेटने के लिए मजबूर हैं|

रेफरल यूनिट दर्जा प्राप्त हसनगंज सीएससी में सरकार की योजनाएं मरीजों को मिलना दुश्वार हो गई हैं| जिसका जीता जागता उदाहरण है कि जहां बेड़ो पर बेडशीट गंदगी ओढ़े हुए हैं वही छत में लड़के पंखे शो पीस बनकर रह गए हैं| बात अगर पानी की की जाए तो शुद्ध पानी पीने के लिए स्वास्थ अधीक्षक के कच्छ के पीछे लगे वाटर कूलिंग मशीन भी मुंह चढ़ा रही है और सरकार के जननी सुरक्षा योजना में सरकार ने प्रसूता महिलाओं को सुबह का नाश्ता रात का भोजन देने का फरमान किया है वही ये फरमान तब तब हवा हवाई साबित होते हैं जब हसनगंज के से रसोईघर में ताला लटका नजर आया विभागीय अधिकारी नई सरकार के फरमान को नियम-कायदे को बलाय ताख पर रखकर बेखौफ बने हुए हैं|

हसनगंज CSC में प्रसूता महिला सरिता पत्नी सोनू उम्र 25 वर्ष निवासी निंदे मऊ बेड ,हवा ,खाना मोहैया ना होने से फर्श पर ही कराहती नजर आई| वहीं जच्चा बच्चा वाली महिलाएं बिना हवा के बेड पर गर्मी से जूझती रही और अपने नवजात बच्चों को गर्मी से निजात दिलाने के लिए अपने आंचल से हवा करती नजर आई और छत पर लटके पंखे शो पीस नजर आए| नाश्ते के नाम पर सौ ग्राम के पाउच में दूध मिलता है, जिसे प्रसूता महिला के परिजनों ने दिखाया और रही बात भोजन की तो भोजन कहां से मुहैया हो जब वर्षों से रसोई घर का ताला ही नहीं खुला विभागीय अधिकारी मूकदर्शक होकर कागजों पर ही फल व भोजन वितरण करने के आंकड़े शासन तक भेजते रहें सीएससी स्वास्थ्य अधीक्षक नितिन श्रीवास्तव ने बताया की वोल्टेज लो होने से पंखे व कूलिंग मशीन फुँक गई है जिससे हवा पानी की दिक्कत हो रही है इसके लिए अतिरिक्त ट्रांसफार्मर के लिए विधुत विभाग को पत्र लिखकर अवगत कराया गया है|

रिपोर्ट- राहुल राठौर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here