द्वारचार के दौरान दुल्हनों के मासूम भाई की रस्सी से गलादबा कर हत्या

0
75
प्रतीकात्मक

भदोही(ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में हैवानियत और दरिंदगी की सारी हदें पार करने वाली एवं दिल को दहलानेवाली एक घटना सामने आयी है। दरवाजे पर दो बहनों की बारत आई थी, उधर हैवानों ने मासूम भाई को घर के बगल बगीचे में ले जाकर गले में रस्सी का फंदा डाल हत्या कर दिया। खोजबीन के बाद उसकी लाश बगीचे में मिली।

घटना की जानकारी जब परिजनों को मिली तो शादी की खुशियां गम में बदल गई। मौके पर पहुंची औराई पुलिस ने शव को कब्जे में लेेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने एक पड़ोसी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस संबंध में दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इस घटना से परिजनों और बारातियों में मायूसी का छा गयी।

भदोही जिले के औराई थाने के डुडवा (समधा) गांव निवासी शिवलाल विश्वकर्मा के यहां मंगलवार को उनकी दो बेटियों की शादी थी। घर पर आठ बजे रात बारात आयी थीं। उस दौरान द्वारपूजा हो रही थी। शिवलाल बेटियों के द्वारपूजा की रस्म निभा रहे थे जबकि परिजन और रिश्तेदार बारातियों के स्वागत में लगे थे। उन्हें जलपान कराया जा रहा था। उसी दौरान दरिंदे पूर्व नियोजित साजिश के तहत शिवलाल के बेटे आशुतोष (11) साल को रात साढ़े आठ बजे बहला फुसलाकर घर के बगल बगीचे में ले गए और वहां मासूम की रस्सी से गला दबाकर हत्या कर दिया। बाद में शव को बगीचे में छोड़ कर चले गए। इधर शिवलाल द्वारचार से जब खाली हुए और बेटे आशुतोष की खोज की जाने लगी तो वह लापता मिला। बाद में परिजनों और रिश्तेदारों की तरफ से खोजने की शुरुआत हुई। खोजबीन के बाद घर के बगल बगीचे में उसकी लाश पाए जाने से सनसनी फैल गई।

इस घटना से सभी बराती और दुल्हे समेत उसके परिजनों के होश उड़ गए। बाद में घटना की सूचना औराई पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंच जांच पड़ताल करने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर पिता की तहरीर पर पड़ोसी प्रदीप विश्वकर्मा पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर घटना की विवेचना में जुटी है। पुलिस ने भी इसे हत्या करार दिया है। पुलिस का कहना है की मामले की जांच की जा रही है। परिजनों की तरहरीर पर एक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

रिपोर्ट- पी०एन० शुक्ल

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY