प्रतापगढ़ में फिर ठप्प हुई स्वास्थ्य सेवाएं, पुलिस द्वारा आरोपियों को छोड़ने से नाराज हुए चिकित्सक

0
118

प्रतापगढ़ (ब्यूरो)- अराजक तत्वों द्वारा डॉक्टर के साथ मारपीट के आरोपियों को पुलिस द्वारा छोड़ देने के कारण नाराज डॉक्टर पुनः हड़ताल पर चले गए। हड़ताल पर जाने से मरीजो का इलाज नहीं हो पा रहा है। जिले के सभी सरकारी डॉक्टरों ने स्वास्थ्य सेवाओं को ठप्प कर दिया है। पुलिस की लापरवाही का नतीजा मरीजों और आम लोगो को भुगतना पड़ रहा है।

कुंडा कोतवाली के सीएचसी पर 4 अप्रैल को घायल को स्वरूप रानी अस्पताल रिफर करने से नाराज घायल के परिजनों ने इमेरजेंसी में तैनात डॉक्टर ओपी पटेल और वार्ड बॉय शाह आलम को जमकर मारा पीटा था और अस्पताल में जमकर उत्पात मचाते हुए रजिस्टर को फाड़ दिया और दरवाजे को तोड़ दिया था। डॉक्टर के साथ मारपीट की सूचना मिलते ही जिले के सभी डॉक्टर हड़ताल पर चले गए। लेकिन सीएमओ के आश्वासन पर उन्होंने हड़ताल खत्म करते हुए ओपीडी शुरू कर दी , लेकिन जैसे ही डाक्टरों को पता चला कि पुलिस ने फरार आरोपियों को पकड़ने की बजाय पकडे गए दोनों आरोपियों को भी छोड़ दिया। सभी डाक्टरों ने पुनः स्वास्थ्य सेवाओं को बंद कर दिया।

हालांकि गुरूवार को डॉक्टरों ने अपना काम शुरू कर दिया था और मरीजो को भी देख रहें थे , लेकिन पुलिस की कार्यशैली की जानकारी जैसे ही हुई डॉक्टरों ने हड़ताल शुरू करते हुए अपनी लड़ाई को अब आर पार लड़ने का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि डॉक्टर के साथ मारपीट के मामले में पुलिस ने डॉक्टर ओपी पटेल की तहरीर पर कुंडा पूरे गड़रियन निवासी राजेश पाल, संजय पाल, अरविन्द पाल, पवन पाल और अन्य अज्ञात लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए राजेश पाल और पवन पाल को गिरफ्तार कर लिया था। डाक्टरो का आरोप है कि पुलिस फरार आरोपियों को पकडने की बजाय पकडे गए आरोपियों को भी छोड़ दिया।

इनका है कहना-
इस बारे में सीएचसी अधीक्षक एवं प्रांतीय चिकित्सीय सेवा संघ के शाखा सचिव का कहना है कि जब तक सभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती और डॉक्टरों को सुरक्षा प्रदान नहीं की जाती, तब तक कोई भी डॉक्टर काम पर लौटने को तैयार नहीं है। इसकी सूचना सम्बंधित अधिकारियों को भेजी जा चुकी है।

इसी बारे में अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी नीरज पांडेय का कहना है कि मामले को गंभीरता से लेते हुए जल्द ही डॉक्टरों की समस्या का समाधान कराया जाएगा।

रिपोर्ट- विश्व दीपक त्रिपाठी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here