विभागाध्यक्ष प्रत्येक कार्य दिवस पर प्रातः 9 से 11 बजे तक कार्यालय में मौजूद रहकर जनता की फरियाद सुने: गिरीश चन्द्र यादव

0
64

मैनपुरी(ब्यूरो)- तहसील, थाना समाधन दिवसों में संबंधित अधिकारियो की उपस्थिति सुनिश्चित हो, सभी विभागाध्यक्ष प्रत्येक कार्य दिवस पर प्रातः 9 से 11 बजे तक कार्यालय में मौजूद रहकर जनता की फरियाद सुने, इन दिवसों पर प्राप्त शिकायतों का 72 घण्टे में शत-प्रतिशत गुणवत्तापूर्वक निस्तारण सुनिश्चित किया जाये। भू-माफियों पर प्रभावी कार्यवाही की जाये, सार्वजनिक भूमि , तालाब, चकरोड पर अनाधिकृत कब्जा करने वालों से कड़ाई से निपटा जाये, शहरी क्षेत्र में 24 घण्टे, तहसील स्तर पर 20 घण्टे एवं ग्रामीण क्षेत्र में 18 घण्टे निर्वाध विद्युत की आपूर्ति सुनिश्चित की जाये, ग्रामीण विद्युतीकरण के कार्य में तेजी लाई जाये, 15 जून तक जनपद की सभी सड़कों को गढ्ढामुक्त किया जाये। थाने पर जनता की बात थानाध्यक्ष स्वयं सुने उनकी अनुपस्थिति परं द्वितीय अधिकारी ही जन शिकायतें सुने, हलका सिपाही कदापि शिकायते न सुने। अधिकारी कार्यशैली बदले, जनता ने जो भरोसा जताया है वह कायम रहे जनता की शिकायतों के निस्तारण में किसी प्रकार की कोताही न बरती जाये, कानून का राज दिखे, अपराधियों , दंबंगों माफियों पर नकेल कसी जाये, मुख्य चैराहों पर सीसीटीवी कैमरों से निगरानी हो, पुलिस पिकेट बढ़ाई जाये, रात्रि में पिकेट कर रही पुलिस के मोबाइल नम्बर की जनता को जानकारी उपलब्ध हो, भीड़भाड़ वाले इलाके, चैराहे पर विशेष सतर्कता बरती जाये।

उक्त निेर्देश प्रभारी मंत्री गिरीश चन्द्र यादव ने कानून व्यवस्था, विकास कार्यो की समीक्षा के दौरान दिये। उन्होने अधिकारियो से कहा कि वह जनता के हितों को ध्यान में रखकर कार्य करें जन शिकायतों के प्रति संवेदनशील रहे, जनता की शिकायतों को सुने और उन्हें राहत प्रदान करें। उन्होने पुलिस अधीक्षक से कहा कि रात्रि में पुलिस पिकेट की निगरानी कराई जाये घटना की जानकारी मिले तो शासन स्तर पर वार्ता कर तत्काल कार्यवाही करें। लम्बे समय से थाने में तैनात सिपाहियों की कार्यशैली पर नजर रखी जाये, थाने पर फरियादियों के बैठने, पीने के पानी की समुचित व्यवस्था हो, पुलिस गुनहगारों पर कार्यवाही करने से कदापि न हिचके। उन्होने कहा कि आईजीआरएस, तहसील दिवस, जनता दर्शन, शासन स्तर से प्राप्त सन्दर्भो को समय सीमा में निस्तारित न करने वाले अधिकारियों को वेतन रोककर दण्डात्मक कार्यवाही की जाये।

प्रभारी मंत्री ने असन्तोष व्यक्त करते हुए कहा कि विभिन्न विभागों में सरकारी कर्मी सेवा निवृत्त होने के बाद भुगतान हेतु भटक रहे हैं। अधिकारी इसमें सुधार लाये और तत्काल भुगतान करना सुनिश्चित करें, यह समस्या सबसे ज्यादा बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा विभाग में है, अकारण परेशान करने वाले बचेगें नहीं। उन्होने कहा कि दैवीय आपदा में राहत राशि उपलब्ध कराने में किसी भी स्तर पर विलम्ब न हो, लेखपाल, कानूनगो से 3 दिन में रिपोर्ट उपलब्ध कराने वक्त मुकर्रर किया जाये, यदि धनराशि उपलब्ध न हो तो टी-आर-27 से पीड़ित को सहायता उपलब्ध करायी जाये, राहत राशि उपलब्ध कराने के किसी भी स्तर पर विलम्ब हुआ तो जिम्मेदारी तय कर दोषी के विरूद्ध कार्यवाही की जाये।

श्री यादव ने पाया कि 91500 मैट्कि टन लक्ष्य के सापेक्ष अब तक 22093 मेैट्कि टन गेहूं की खरीद हो चुकी है, खरीदे गये गेहूं में से 93 प्रतिशत किसानो का भुगतान भी किया जा चुका है, बोरे, धनराशि की जनपद में कमी नहीं है। जनपद में 200 कुन्टल आलू की भी खरीद हुई है। उन्होने लोक निर्माण, जिला पंचायत, आरईएस, मण्डी के अधिकारियो के साथ-साथ अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह युद्ध स्तर पर कार्य करें और 15 जून तक सभी सड़को को गढ्ढामुक्त बनाये। उन्होने जिला पंचायत द्वारा कराये गये, कराये जा रहे कार्यो पर विशेष निगरानी के आदेश दिये। उन्होने कहा कि यदि 15 जून के बाद कहीं भी किसी सड़क पर गढ्ढा मिला तो संबंधित अधिकारी बचेगें नहीं उनके विरूद्ध कार्यवाही होग नगर विकास राज्य मंत्री ने मुख्य चिकित्साधिकारी से कहा कि वह स्वास्थ्य केन्द्रों की दशा सुधारे, चिकित्सकों की समय से उपस्थित सुनिश्चित करायें, सभी सामुदायिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पर्याप्त मात्रा मे दवा उपलब्ध रहे, कुत्ता काटे, सांप काटने के इंजेक्शन जरूरतमन्दो को लगाया जाये।

उन्होने कहा कि शहरी, ग्रामीण क्षेत्र में पीने के पानी की समुचित व्यवस्था रहे जो हैण्डपम्प खराब है उन्हें तत्काल ठीक कराया जाये। नगर पंचायतें अपने क्षेत्र में मिनिरल वाटर उपलब्ध कराने हेतु प्लांट लगाये, सार्वजनिक स्थानों पर सुलभ शौचालय, यूरिनल की व्यवस्था की जाये, सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाये, जिला पंचायतराज अधिकारी ग्रामीण क्षेत्र में सफाई कार्मिको को सक्रिय कर सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करायें। उन्होने खुले में शौचालय की प्रथा समाप्त करने की धीमी प्रगति पर असन्तोष व्यक्त किया। अभी जनपद में मात्र 03 ग्राम पंचायतें ही ओडीएफ हुई है। नगरीय क्षेत्र में भी स्थिति सन्तोषजनक नहीं है प्र. मंत्री ने विद्यालयो में बच्चों की कम उपस्थित पर भी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश में बेसिक शिक्षा विभाग की दशा खराब है , शिक्षक विद्यालय नहीं जाते, विद्यालयों में निरन्तर छात्र संख्या घट रही है, शिक्षक पढ़ाने में रूचि नहीं ले रहे। उन्होने कहा कि यदि कोई शिक्षक कार्य दिवस में उच्चाधिकारियो से समस्या लेकर मिलने आये तो अवकाश लेकर आये यदि बिना अवकाश के आये तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही हो। बैठक में विधायक भोगांव राम नरेश अग्निहोत्री जिलाधिकारी यशवन्त राव, पुलिस अधीक्षक राजेश एस, मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार गुप्ता, अपर जिलाधिकारी ए.के.श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. शरद वर्मा, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी बी.एस.यादव आदि संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here