अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के चलते पहले नवजात की जान गयी फिर शव को चीटियों ने नोच डाला |

0
571
niñoirak
                                                                               Symbolic Image

मध्य प्रदेश के इंदौर के जिला अस्पताल में कर्मचारियों की लापरवाही के चलते एक नवजात बच्ची की मौत हो गयी उसके बाद जब कानूनी प्रक्रिया के तहत शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल ले जाया गया तो एक बार फिर अस्पताल की लापरवाही सामने आ गयी और नवजात के शरीर को चीटियों ने नोच डाला |मामला सामने आने पर जिला कार्यालय ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं |
जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. रतन खंडेलवाल ने कहा कि बच्ची के इलाज में कथित लापरवाही और शव को चीटियों द्वारा नोचे जाने की मजिस्ट्रेट से जांच के आदेश जिलाधिकारी पी. नरहरि ने दिए हैं।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इंदौर जिले के सिरपुर निवासी सुरेश की पत्नी संगीता ने जिला अस्पताल में एक बच्ची को जन्म दिया | परिजनों ने अस्पताल पर आरोप लगाते हुए कहा कि चिकित्सकों एवं नर्सिंग स्टाफ की लपरवाही के चलते बच्ची का उचित उपचार नहीं मिल पाया और इसी की वजह से उसकी मृत्यु हो गयी और जब उसके पोस्टमार्टम का समय आया तो इन्ही लोगो की लापरवाही के चलते शव को चीटियाँ खा गयी |

इससे पहले इंदौर के ही महाराज यशवंतराव अस्पताल में दो नवजात शिशुओं की ऑक्सीजन की जगह बेहोशी की पाइप लगा देने से मौत हो गयी थी, इसी तरह दमोह जिला अस्पताल द्वारा एक नवजात शिशु को मृत घोषित कर दिए जाने के बाद वह श्मशान में उठकर बैठ गया |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY