नगर पंचायत नयोतनी में विकास कार्यों में लाखों का घोटाला, सभासदों ने उठाई भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज़

0
156


उन्नाव (ब्यूरो) नगर निकाय चुनाव आने के ठीक पहले ही जलती हुई लाइटो को खराब दिखा कर नई एलईडी लाइटों के लगाने के नाम पर 13ला.ख रुपये का घोटाले करने के मामले में एसडीएम ने आख्या डीएम को भेज दी है। जबकि सभासदो ने सफाई को कागजो पर फर्जी दिखाकर सवा लाख रूपये का एक और घोटाला उजागर किया है । उधर लाइटो में ईओ व चेयर मैन के दवारा गडबडी को डीएम ने अखबारो में प्रकाशित खबर को संज्ञान मे लेकर एडीएम से जाँच रिपोर्ट माँगी है। जबकि सभासदों ने आला अधिकारियों सहित सीएम व प्रधानमंत्री तक सरकारी धन के दुरप्रयोग करने का आरोप लगाकर प्रत्यावेदन देकर जाँच कराकर कार्यवाही की मांग पहले ही उठा चुके है।

मामला नगर पंचायत न्योतनी का है जहाँ विगत सपा शसनकाल से विकास कार्यो, सफाई, कीटनाशक दवाओ, व संयन्त्रों के खरीदने मे लाखो घोटालो की शिकायतें एसडीएम से लेकर डीएम व मुख्यमंत्री तक पहुचती रही है, लेकिन जाँच अधिकारी औपचारिकता कर लेन देन कर फर्जी रिपोर्ट भेजते रहे । भाजपा की नई सरकार बनते ही नगर पंचायत न्योतनी में घोटालो का अंबार लगना शुरू हो गया । सभासदों ने आरोप लगाया है कि अंत्येष्टि स्थल, इंटर लाकिंग, सफाई आदि के नाम करोड़ों का घालमाल करने की शिकायते योगी सरकार तक पहुंचना शुरू हो गयी हैं, फिर भी अनिमितताएं मिलने के बाद अधिशासी अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही के नाम पर खेल होता रहा और जाँच अधिकारी असहाय बने रहे तथा अधिशासी अधिकारी व चेयर मैन की मिली भगत से सरकारी धन का बन्दर बाट होता रहा ।

निकाय चुनाव की घोषणा होते ही एक बार फिर ईओ, चेयरमैन ने टाउन की जलती लाइटो को खराब दिखाकर सुनोजित ढंग से करीब 150 लाइटो को कार्य योजना बनाकर पास कर तेरह लाख रूपये बिना डी एम की अनुमति के एल ई डी लाइट लगाने वाली हरदोई की वन्स इलेक्टानिक फर्म के नाम तेरह लाख रूपये का 9 म ई को भुगतान कर दिया गया था।।तथा उसी दिन ईओ कमीशन लेकर छह महीने की मातृत्व अवकाश पर चली गयी ।जिस पर टाउन न्योतनी चेयर मैन व ईओ के दवारा सरकारी धन के दुरप्रयोग के खिलाफ 12 सभासदो ने एकजुट होकर विरोध दर्ज कराया था ।तथा टाउन के इमरान अहमद ने आर टी आई से लेखा जोखा मांगने पर भषटाचार की पोल खोल दी थी।जिसको 26 म ई को सभासदो ने बाकी भुगतान को रोकने के लिये एस डी एम से लेकर डी एम तक शिकायत की थी।मजेदार बात है कि लाइटों को लगाने के नाम पर जेई पी डब्लू डी ने चार सौ रूपये प्रति लाइट के हिसाब से 11515 रूपये का भुगतान करा लिया।जबकि सविदा पर कार्य कर रहे श्रमिको न लाइटो को खंमभे मे बाँधने का काम किया था।तथा दो दर्जन श्रमिको के तैनात होने के बाद भी 9 म ई को ही एक लाख नौ सौ साठ रूपये कागजो पर सफाई दिखा कर चेयरमैन व ईओ ने डकार दिये ।इसी तरह सफाई कागजी आकडो मे दफन हो ग ई ।तथा नाली व नाला गंदगी से बज बजाते रहे ।

सभासदो ने बताया कि हैवेल्स कम्पनी के अनुसार 48 वाट की प्रति लाईट 4000 की, व 60 वाट की लाईट 5500 की रिटेल बिक्री होती है। जिसको अधिशासी रेनू यादव, चेयरमैन अमृत लाल व ठेकेदार की साँठ गाँठ के चलते लगभग तीन गुना दाम अधिक दिखाकर भुगतान कर दिया गया । एलईडी लाइटो को लगाने व कमीशन खोरी को लेकर सभासदों ने एकजुट होकर प्रकरण की जांच कराने के लिए एसडीएम से शिकायत की । नगर पंचायत न्योतनी के सरकारी धन के दुरुपयोगिता की जाँच कराकर कार्यवाही की माँग की है। जिस पर एसडीएम मनीष बंसल ने बताया टाउन के सभासदो की शिकायत की आख्या डी एम को भेजी जा चुकी है।जिस पर डी एम आदिति सिंह ने अखबारो मे प्रकाशित खबर को गंमभीरता से लेकर मामले की जाँच ए डी एम से माँगी है।जबकि नवाबगंज टाउन मे 77 लाख रूपये की इंटर लाकिंग दिखाकर फर्जी भुगतान करने का आरोप ईओ रेनू यादव पर पहले ही लग चुका है।

शिकायत कार्यकर्त सभासदों, श्री मती माधुरी, श्री मती चम्पा, मंशा राम, विमला, पुष्पा देवी , राजू सभासद , कमलेश सभासद, इमरान अहमद, सिराज अहमद, हसीन उल्ला, फरहान अहमद, श्री पाल, अरुण आदि ने संयुकत हसताक्षर करके सीएम योगी आदित्यनाथ से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक भष्टाचारके इस मामले को पहुंचा दिया है । जिसपर पीएमओ कार्यालय ने यूपी सरकार से रिपोर्ट माँगी है। अब देखना है पिछली सरकार मे करोडो रूपये व योगी सरकार मे लाखो के घोटालो की जाँच पर कार्यवाही होगी या नहीं अभी भी सभासदो को संशय बना हुआ है।

रिपोर्ट – राहुल राठौर

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here