नगर पंचायत मानिकपुर में दिन में भी जलती रहती हैं हाई पावर की स्ट्रीट लाइटें, सिर्फ कागजों में ही लगी हैं LED लाइटें

0
280

WhatsApp Image 2017-01-27 at 6.23.31 PM
कालाकांकर(प्रतापगढ़) : देश में बिजली की बढ़ती खपत को देखते हुए सरकार ने बिजली बचाने के लिए कम पावर की LED लाइटें लगवाने के लिए लोगों को जागरूक किया इसके साथ ही सरकारी विभाग, दफ्तर, रेलवे स्टेशन, सरकारी बिल्डिंगे, महानगर से लेकर नगर पंचायत एवम ग्राम सभा तक बिजली की खपत कम करने के लिए LED लाइटें लगाने का आदेश जारी किया| जिससे कि बिजली कि बचत हो सके| उत्तर प्रदेश कि सबसे पुरानी दूसरी टाउन एरिया नगर पंचायत मानिकपुर है जो इस समय आदर्श नगर पंचायत का दर्जा प्राप्त कर चुका है|

WhatsApp Image 2017-01-27 at 6.23.49 PM

आइये अब हम आप लोगों को उत्तर प्रदेश कि सबसे पुरानी दूसरी टाउन एरिया एवं आदर्श नगर पंचायत मानिकपुर के बारे में बताते हैं कि इस नगर पंचायत में बिजली बचाने के लिए LED लाइटें लगाना तो दूर, हाई पावर की स्ट्रीट लाइटों को दिन में भी बंद करना उचित नही समझते हैं | इस समय नगर पंचायत में लगभग ३०० हाई पावर की स्ट्रीट लाइटें लगी हुई हैं जिसमे आधी लाइटें रात में भी नही जलती हैं और जो जलती हैं रात के साथ साथ दिन में भी जलती रहती हैं | ( हो सकता है इन लाइटों के दिन में जलने से सूर्य को ऊर्जा मिलती हो )

WhatsApp Image 2017-01-27 at 6.22.43 PM

जनता तो बिजली बचाने के लिए अपने घरों में LED लाइटों का इस्तेमाल करती है और बिजली बचाने के लिए काम न होने पर अपने घर की लाइटें बंद कर देती है क्योकि बिजली का बिल देना पड़ता है | बिजली बचाने के लिए तो जनता ने अपनी जागरूकता दिखाई | लेकिन सरकार के जिम्मेदार लोग ही अपनी जिम्मेदारी न निभा कर बिजली विभाग को गहरा झटका दे रहे हैं | क्या सरकार ने अपने विभागों व अधिकारियों को बिजली बचाने के लिए जागरूक नही किया ? या अधिकारी जागरूक होना ही नही चाहते ? अगर नगर पंचायत के अधिकारी जागरूक होकर दिन में ही लाइटें बुझवा दे तो काफी बिजली बचाई जा सकती है | इस सम्बन्ध में बात करने के लिए अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत मानिकपुर ऍम० ऍम0 ज़ैदी को फ़ोन किया गया पर फ़ोन रिसीव नही हुआ |

रिपोर्ट – पंकज मौर्य

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY