हिस्ट्रीशीटर ने गवाह को दी जान माल की धमकी, पुलिस मौन

0
103

गाजीपुर(ब्यूरो)- योगी राज में जहां आए दिन अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को आए दिन आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जाते वही गाजीपुर पुलिस अपराधों की रोकथाम में फिसड्डी नजर आ रही है| इसी कड़ी में जीता जगता प्रमाण सामने आया है| आए दिन जानमाल की धमकी देना, गवाह सहित गवाह के परिवार को डराना धमकाना, गुंडा एक्ट के अपराधी द्वारा नाना प्रकार की धमकी देना आम बात हो गई है लेकिन पुलिस के आला अधिकारी गवाह के प्रार्थना पत्र कोई कार्यवाही नहीं करते|

उक्त बातें मुकदमे के एक गवाह ने मीडिया के समक्ष अपना बयान पेश किया और अपनी आपबीती बताई और कहा कि गुंडा एक्ट के अपराधी वीरेंद्रनाथ सिंह पुत्र स्वर्गीय संत प्रसाद सिंह निवासी ग्राम खरौना थाना खानपुर जनपद गाजीपुर के विरुद्ध सन 1995 में थाना खानपुर जनपद गाजीपुर के विरुद्ध एक आपराधिक मुकदमा मुकदमा दर्ज था, उसमें मैं गवाह हूं| इसी रंजिश में वीरेंद्र नाथ सिंह सहित उसकी पत्नी मुझे आए दिन जानमाल की धमकी देते हैं और कहते हैं कि मुकदमे से हट जाओ और गवाही मत दो अगर तुमने गवाही दे दिया तो तुम्हे तुम्हारे परिवार सहित जान से मार कर फेंक देंगे|

रविंद्र कुमार पांडे का कहना है कि मेरे साथ घटित घटना की जानकारी पुलिस अधिकारियों को दी, उसके बाद भी कोई कार्यवाही अभी तक नहीं हुई| जिसके चलते अपराधियों के हौसले बुलंद है| अपराधी रास्ते चलते मुझे हर समय परेशान करते हैं, साथ ही नाना प्रकार की धमकी देते हैं और दिलवाते हैं| गांव खरौना निवासी रविंद्र कुमार पांडे ने बताया कि मुझे मानसिक प्रताड़ना से हैरान और परेशान कर रखा है, जिससे मैं बहुत दुखी और परेशान हूं| मेरा पुलिस अधिकारियों से निवेदन के साथ आग्रह है कि तत्काल उचित कार्यवाही करें|

रिपोर्ट- डॉ. विजय प्रकाश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY