Say no to in-equality watch, learn and decide

0
598

‘Arre’ a YouTube channel is doing a super cool thing called HO JA RE-GENDER where 3 girls & 3 boys are participating & they will be going through a re-gender (with make-up & appearances) & will be performing different tasks & activities, so that they can experience what are the consequences can be when you are in someone others shoes or a saree in this case cause its really easy to say something about any sex when you yourself doesn’t know much about it.

I think not only the contestants also the viewers who’ll be watching it will also get to know the hardships of another gender. I think shows like these can really teach us about inequality which is one of the traditional problem in our country. Another interesting fact is that they are doing it through internet which is why it is more reachable to the youth cause social media is one such platform which is really accessible to anyone and it is a great way to convey such revolutionary message.

Watch the trailer…

‘Arre’ नाम से प्रसारित हो रहे एक यू-ट्यूब चैनल ने एक बड़ा ही रोमांचक यू-ट्यूब शो की शुरुवात की है, इस यू-ट्यूब शो का नाम HO JA RE-GENDER जहाँ तीन लड़कों और तीन लडकियां कृत्रिम रूप से (सौन्दर्य प्रसाधनों का प्रयोग करके) अपना लिंग परिवर्तन करके आम जीवन में शामिल होंगे, जहाँ इन्हें सामान्य जीवन से जुड़े अलग-अलग तरह के काम दिए जायेंगे और इन प्रतियोगियों को इसे पूरा करना करना होगा ताकि वे लोग एक विपरीत लिंग के अनुभवों को और उसके रोजमर्रा के जीवन में आने वाली चुनौतियों को महसूस कर सकें, मेरा मानना है कि इस तरह के प्रयोग के इन दोनों लिंगों रिश्तों को और अधिक मजबूत करेंगे तथा दोनों के की मन में एक-दुसरे के प्रति सामान और भी प्रबल हो जायेगा |

ऐसा सिर्फ प्रतियोगिता में भाग ले रहे प्रतियोगियोंन के साथ ही नहीं होगा बल्कि इसका असर दर्शकों पर भी होगा और वो भी विपरीत लिंग से जुड़ी कठिनाइयों को समझ सकेंगे | इस तरह का प्रयोग हमारे भारतीय समाज में सालों से फैली लिंग असमानता के प्रति जागरूकता फैलाने में सहायक होगा | चैनल ने इस शो के लिए इन्टरनेट और सोशल मीडिया का माध्यम चुना ताकि इसे देश के हर कोने तक पहुँचाया जा सके और देश का अधिकतर युवा इससे जुड़ सके और सीख सके |

By – Prateik Dwivedi

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY