होली का त्यौहार नजदीक आते ही बिकने लगा मिलावटी खोया व पनीर

0
90


मैनपुरी-
होली का त्यौहार का दिन जिस रफ्तार से नजदीक आ रहा है। ठीक उसी रफ्तार से कस्बा व शहर में मिलावटी खोया बेचने का धन्धा पैर पसार रहा है। कस्बा में मिलावटी खोया की बिक्री जमकर हो रही है। हलवाई से लेकर दूध का धन्धा करने बाले इस गोरखधन्धे में लिप्त दिखाई दे रहे है। खोया बनाने का कार्य क्षेत्र के गांवो में दूध बेचने बाले लोगो के द्वारा किया जा रहा है। जो कई सैंकड़ा किलो खोया प्रतिदिन तैयार करके रहे है। खोया को तैयार करने के बाद दूधिया उसे कस्बा के हलवाई और लोगो के घरो में जाकर बेच रहे है। खाद्य विभाग के अधिकारियो की उदासीनता के चलते यह धन्धा कस्बा में दिन दूना रात चौगुना तरक्की कर चुका है। कस्बा में लगभग दो दर्जन से भी अधिक हलवाई है। जिनमें से कुछ को छोंडकर एक हलवाई प्रतिदिन एक से डेढ़ कुन्तल खोया बेचता है। विभाग की तरफ से कभी भी इन हलवाईयो के यहां पर आकर यह जांच नही की गई कि हलवाई किस गुणवत्ता का खोया बेच रहे है। चिकित्सको की माने तो मिलावटी खोया स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा हानिकारक होता है। खाद्य विभाग के द्वारा अगर हलवाईयो की जांच की जांए तो कई चेहरे से बेनकाव हो जायेगे जो लोगो के स्वास्थ्य से खुलेआम खिलवांड कर रहे है।
खोया के साथ पनीर में भी मिलावाट
मैनपुरी खोया के साथ पनीर का मामला भी कुछ कम नही है। मिलावटी पनीर की ब्रिकी भी जोरो पर हो रही है। शहर व कस्बा के लोगो का कहना है कि जब कस्बा में दूध ही मिलावटी आ रहा है। तो उससे बनने बाली हर एक चीज में ही मिलावट हो रही है। मिलावटी दूध के खिलाफ कस्बा में कभी कोई अभियान नही चलाया गया। गांव के दूधिया रोज ही कस्बा में मिलावटी दूध को लेकर बेचने के लिए आते है।
रिपोर्ट- दीपक शर्मा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY