ऑनर किलिंग का पर्दाफास

0
100

कन्नौज ब्यूरो : कन्नौज के चर्चित प्रेमी युगल की हत्या की गुत्थी पुलिस ने दो हफ्ते की कड़ी पड़ताल के बाद सुलझा ली। मामला ऑनर किलिंग का ही निकला। प्रेमी के पिता ने बिरादरी में बदनामी के चलते अपने साथियों के साथ मिलकर दोनो की हत्या की थी।पुलिस ने दो आरोपोयों को हिरासत में लिया है।मुख्य आरोपी प्रेमी का पिता और उसके दो साथी फरार है।

1-27 मार्च की सुबह कन्नौज के गुरसहायगंज कोतवाली क्षेत्र के मलिकपुर क्रासिंग के पास प्रेमी युगल की लाश मिली थी। लाश लालपुर गांव के कन्हैया ओर सीमा की थी। पुलिस शुरुआत से ही इसे ऑनर किलिंग मान रही थी, लेकिन कन्हैया के पिता के बयान के आधार पर गांव के ही पांच लोगों के खिलाफ व्यापारिक रंजिश के चलते हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ। पुलिस की स्पेशल टीम ने जब गहराई से पूरे मामले की छानबीन की तो मृतक कन्हैया का पिता ही दोनों का हत्यारा निकला।

एएसपी कन्नौज बंशराज यादव ने बताया कि शुरू में दोनों मृतकों के परिजनों के एक जैसे बयान ने पुलिस को इस ऑनर किलिंग मामले में गुमराह कर दिया, लेकिन जब दोनों पक्षो की ओर से नामजद करवाए गए आरोपियों की हत्याकांड के दिन की लोकेशन ली गयी तो सारी सच्चाई उजागर हो गयी। गांव में भी पुलिसिया पड़ताल में गैर बिरादरी की लड़की से प्रेम सम्बन्ध के चलते मृतक कन्हैया के पिता दिनेश की बदनामी की बात सामने आई थी, जो पकड़े गए दो आरोपियों के कबूलनामे के बाद सच साबित हुई।

लालपुर के इस ऑनर किलिंग मामले में मृतका का नाना मुख्यमंत्री के दरबार मे हाजिरी लगा चुका था। पुलिस सूत्रों की माने तो डीजीपी कार्यालय से दो दिन में ऑनर किलिंग के इस मामले के खुलासे के निर्देश जारी हो चुके थे। इसी दबाव के चलते पुलिस को पहले से पकड़ कर रखे दोनो आरोपियों को सामने लाना पड़ा। जबकि पुलिस की कोशिश मुख्य आरोपी सहित सभी को गिरफ्तार कर खुलासा करने की थी।

रिपोर्ट- सुरजीत सिंह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here