होटल कंट्री इन मामला : तहसीलदार द्वारा रिपोर्ट न देने पर शिकायतकर्ता ने आरटीआई के तहत मांगा जबाब

बदायूं (ब्यूरो) जिले के श्यामनगर(नवादा) स्थित होटल विगत दिनों से चर्चा का विषय बना हुआ| क्योंकि बताया जा रहा है होटल कंट्री इन की बनी बिल्डिंग में कुछ हिस्सा कब्रिस्तान की भूमि का है| इसी वजह से एक समुदाय विशेष में रोष भी व्याप्त है| आपको बता दें जिसको लेकर पिछले दिनों से समाजवादी पार्टी के यूथ विंग मुलायम सिंह यूथ बिग्रेड के जिलाध्यक्ष स्वाले चौधरी ने इस पूरे मामले की शिकायत जिले के आला अधिकारीयों से की थी जिसके बाद तसीलदार सदर ने एक कमेटी बनाकर कब्रिस्तान व होटल कंट्री इन की पैमाइश के निर्देश दिए थे, जिसके बाद कानूनगो व लेखपालों की टीम ने मौके पर जाकर पैमाइश कर रिपोर्ट तहसीलदार को सौंप दी|

तहसीलदार ने होटल कंट्री इन को बचाने के प्रयास से रिपोर्ट को दबाना चाहा, उसके बाद शिकायतकर्ता स्वाले चौधरी ने इस पूरे मामले की शिकायत कमिश्नर व यूपी के सीएम से की| कमिश्नर ने शिकायत को संज्ञान में लेकर कब्रिस्तान की भूमि व होटल कंट्री इन की दुबारा पैमाइश के निर्देश दिए| जिसकी फिर से नयी जाँच कमेटी बनाकर पैमाइश करा ली गयी लेकिन रिपोर्ट को दबा रखा है| अब शिकायतकर्ता ने तहसीलदार द्वारा रिपोर्ट दबाये जाने के बाद आरटीआई (सूचना का अधिकार अधिनियम २००५ ) के तहत सम्बंधित ब्यौरा माँगा है| अब सवाल यह उठ रहा है की आखिर तहसीलदार आखिर क्या ऐसी वजह है जो रिपोर्ट को दबाकर होटल कंट्री इन के मालिक को कार्रवाही से बचाना चाह रहे हैं| शिकायतकर्ता ने कहा की हम शांत नहीं बैठेंगे चाह हमें आन्दोलन को मजबूर होना पड़े जब तक कब्रिस्तान की भूमि से अवैध कब्जा नहीं हटेगा तब तक हम इस पूरे मामले को दबने नहीं देंगे|

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here