जिलाधिकारी ने कसे कोतवाल के पेंच, अनुचित व्यवहार न करने की दी चेतावनी

0
70

रायबरेली(ब्यूरो)- कोतवाली पुलिस का खेल भी निराला है। रायल्टी जमा होने और खनन के लिए एमएम 11 जारी होने के बाद भी कोतवाली पुलिस की जेब न गरम होने पर ठेकेदार की जेसीबी व डम्फर को जबरन कोतवाली में खडा़ करा लिया। यही नही ठेकेदार सुरेष कुमार को धमकाया भी कि तुम चाहे जितना एमएम 11 लाओ बगैर कोतवाली का खर्चा दिये खनन नही करा सकते ।

कोतवाली पुलिस सरकारी राजस्व को जमा कराने की बजाय उसकी चोरी कराने यकीन रखती है। इस बारे में कोतवाल का कहना है कि मिट्टी का खनन मजदूरों से कराय जाने का आदेष है। इस पर खनन अधिकारी का कहना है कि उनके द्वारा जेसीबी मषीन से खुदाई करने की अनुमती दी गयी है। कोतवाली पुलिस अपराध पर रोकथाम करने की बजाय अपराध कराने पर विष्वास रखती है।पुलिस पैसे के अलावा किसी भी अधिकारी का आदेष नही मान रही है।

इस पर पीडित सुरेष कुमार ने गुरूवार को जिलाधिकारी से मिल कर अपने साथ पुलिस द्वारा किये जा रहे शोषण की बात बतायी। जिस पर जिलाधिकारी ने प्रभारी निरीक्षक कोतवाली सुरेष चन्द्र पाण्डेय को जमकर खरी खोटी सुनाई और सुरेष कुमार के साथ अनुचित ब्यवहार न करने की चेतावनी दी।

रिपोर्ट- राजेश यादव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY