डेंगू से बचने के कुछ आसान उपाय

0
647

9311645624_2c6b74e8df_o

 

डेंगू एक गंभीर बीमारी है जो संक्रमित मादा एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलती है। यह ‘ब्रेक बोन फ़ीवर’ के नाम से भी जानी जाती है और काफ़ी दर्दनाक और दुर्बल करने वाली बीमारी है। तेज़  बुखार, गंभीर सिर दर्द, आंखों के पीछे दर्द, मतली, उल्टी, ग्रंथियों में सूजन, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द , कुछ मामलों में त्वचा पर चकत्ते (रैश) पड़ना आदि इस बीमारी के प्रमुख लक्षण हैं | इसके लक्षण मच्छर के काटने के 6-10 दिन बाद दिखने लगते हैं । इस बीमारी का कोई भी निश्चित इलाज नहीं है अतः इससे बचाव ही उत्तम उपाय है कुछ सरल उपायों से काफी हद तक इस बीमारी से रोकथाम की जा सकती है |

खाली बाल्टी और बर्तनों को हर समय उल्टा करके रखें |

दिन और रात के समय नियमित रूप से मच्छर-नाशकों का प्रयोग करें |

घर के दरवाजे और खिड़कियों की जालियां फटी हुई न हों |

यदि घर में कोई डेंगू से पीड़ित है, तो ध्यान रखें कि उन्हें या घर के किसी अन्य सदस्य को मच्छर न काटे |

यदि कूलर का प्रयोग करते हैं तो नियमित रूप से उसकी सफाई करें |

कूड़ेदान को हमेशा ढककर रखें और नियमित रूप से उसे खली करके साफ़ करते रहें |

मच्छरों को घर दूर रखने घर की खिड़किओं के पास तुलसी के पौधे लगाना।  यह मच्छरों को पनपने से रोकते हैं |

एडीज एजिप्टी मच्छर ज़्यादातर दिन में काटते हैं और खाली पड़े डिब्बों और गंदी जगहों में पैदा होते हैं। इसलिए घर में कूलर, गमले, छत, पुराने टायर, टूटे -फूटे बर्तन कहीं पर भी पानी जमा ना होने दें |

स्वास्थ्य कार्यकर्ता से पायरेथम तथा टेमीफॉस लार्वा रोधी का स्प्रे कर करवाएं |

अगर संभव है तो शाम को घर में नीम का धुआँ करें |

पूरी बाँह के कपड़े पहने |

हमेशा मच्छरदानी लगाकर सोएं |

अपने कमरे की खिड़कियां और दरवाज़ों को बंद करके कपूर जलाएं। १५-२० मिनट तक कमरे को बंद रहने दें इससे कमरे में मौजूद सभी मच्छर भाग जायेंगे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here