ह्त्या का प्रयास करने के आरोप में आरोपी को 5 वर्ष के सश्रम कारावास और 5000 Rs. जुर्माने की सुनाई सजा

0
116

court

सुल्तानपुर- हत्या व जानलेवा हमले के मामले में विचारण के बाद अदालत ने सबूतों के आभाव में आरोपी को हत्या में दोषमुक्त किया है, जबकि हत्या के प्रयास में उसे दोषी ठहराया है। अपर जिलाजज द्वितीय नासिर अहमद ने दोषसिद्ध आरोपी को पांच वर्ष के सश्रम कारावास एवं पांच हजार रूपये अर्थदण्ड की सजा सुनाई है।

क्या था पूरा मामला-
बता दें कि मामला कुड़वार थानाक्षेत्र के खादर बसन्तपुर गांव का है। जहां के रहने वाले वादी रामचन्दर निषाद ने 23 फरवरी 2009 को रात में हुई घटना का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि वह और उसकी पत्नी बगल-बगल ही सो रहे थे। इसी दौरान गांव के ही आरोपी जगदीश सिंह व तीन अज्ञात बदमाशों ने चाकू से उस पर हमला किया, वादी के चिल्लाने की आवाज सुनकर उसकी पत्नी फूलकुमारी मौके पर पहुंची तो अज्ञात में से किसी ने उसे गोली मार दी और उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

इस मामले में जगदीश सिंह के खिलाफ ही आरोप पत्र दाखिल हुआ। पुलिस तीनों अज्ञात आरोपियों का सुराग नहीं लगा सकी। इसी मामले के विचारण के दौरान अभियोजन पक्ष के शासकीय अधिवक्ता संदीप सिंह ने नौ गवाहों को पेश किया, वहीं बचाव पक्ष ने आरोपों को निराधार बताया। तत्पश्चात न्यायाधीश नासिर अहमद ने हत्या के आरोप में साक्ष्य पर्याप्त न होने के चलते उसे बरी कर दिया। जबकि अभियोगी के हत्या के प्रयास में जगदीश को दोषी करार देते हुए सजा सुनाई है।
रिपोर्ट-संतोष कुमार
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY