ममता पर भारी पेट की आग

0
158

15 RBL 1
रायबरेली : गरीबी से तंग महिला ने अपने पेट की भूख मिटाने के लिये दो दिन की नवजाति बच्ची को केवल दो हजार रूपये में बेचने को तैयार है।

स्थानीय रेलवे स्टेशन के बाहर रेखा (काल्पनिक नाम) ने दो दिन पहले जिला अस्पताल में जन्मी बच्ची को मात्र इसलिये बेच रही है कि उसके पास न तो नवजात का और न ही अपने पेट की आग बुझाने का कोई जरिया है। महिला ने अपने नवजात की कीमत भी मात्र दो हजार ही रखी है। स्टेशन के बाहर भीख मांगकर गुजारा करने वाली रेखा के दो दिन पहले जिला अस्पताल में एक बच्ची सामान्य हालत में पैदा हुई। सामान्य प्रसव होने के चलते जिला अस्पताल से उसको 24 घंटे मे ही छुट्टी मिल गई। अस्पताल से निकलते ही उसके सामने अपनी और नवजात के पेट को भरने की चिंता सताने लगी। स्टेशन पर काम करने वाले कुलियो ने बताया कि दिन तो किसी प्रकार धूप में कट जाता है लेकिन रात में पड़ने वाली भीषण ठण्ड में नवजात कितने दिन जिंदा रहेगी। स्टेशन पर आने जाने वाले ही इसकी हालत पर तरस खाकर जो कुछ दे देते हैं उसी से इसका काम चल जाता है।

रिपोर्ट – राजेश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY