दूसरी पत्नी के साथ मिलकर पति ने पत्नी और बच्चों को पीटा

0
181


प्रतापगढ़ (ब्यूरो) : जनपद प्रतापगढ़ के कोतवाली मानधाता के अंतर्गत पुरैला गांव में पहली पत्नी जिसकी शादी 20 वर्ष पहले हुई थी, पुरैला गांव के बासुदेव मौर्य के साथ हिंदू रीति-रिवाज के साथ संपन्न हुई थी | पत्नी का नाम सितावा मौर्य पत्नी वासुदेव निवासी पुरैला जीवन अपना खुशी-खुशी बिता रहे थे, इन दोनों के बीच पहला पुत्र अक्षय मौर्य उम्र 20 वर्ष, पुत्री निशा मौर्य उम्र 17 साल, मनीषा मौर्य उम्र 16 साल, अनुज मौर्य उम्र लगभग 15 वर्ष का जीवन हंसी-खुशी चल रहा था | इस परिवार को किसी की काली नजर लगी, सितावा का मायका कोतवाली लालगंज के बैजलपुर गांव में है मायके में 3 माह पूर्व कोई कार्यक्रम था | सीतावा अपने चारों बच्चों के साथ कार्यक्रम में सम्मिलित होने चली गई |

कार्यक्रम संपन्न होने के पश्चात जब चार दिन बाद सीतावा मां अपने बेटो-बेटी के साथ जब 4 दिन बाद अपने घर पुरैला वापस लौटी तो देखा कि सीतावा का पति बासुदेव मौर्य घर मैं दूसरी पत्नी मंजू के साथ घर में मौजूद था, इसको कही से भगा कर लाया था | बस देखते ही देखते इस परिवार में कोहराम मच गया उस समय भी मामला थाने आया था, परंतु क्षेत्र के दरोगा ने मामले को रफा-दफा कर दिया परंतु आज दिनांक 12 जून 17 को वासुदेव एवं दूसरी पत्नी मंजू आज सुबह 7:00 बजे लाठी-डंडा सरिया लेकर अपनी पहली पत्नी तथा दो बेटियों को मार कर लहूलुहान कर दिया |

घटना की सूचना पीआरवी डायल 100 को दी गयी, मौके पर डायल 100 के सिपाही दरोगा पहुंचे और घटना सही पाया, पहली पत्नी समेत दो बेटियों को तथा पति वासुदेव मौर्य दूसरी पत्नी मंजू को कोतवाली मानधाता उठा लाए | पहली पत्नी समेत दो बेटियों को ज्यादा चोट लगी थी मेडिकल मुआयना कराने के बाद लिखित कानूनी कार्यवाही पुलिस कर रही है अब सवाल यह होता है कि हिंदू रीति-रिवाज के हिसाब से यदि पहली पत्नी जिंदा है मौजूद है, बच्चे बड़े-बड़े हो गए हैं इसका अंदाजा स्वयं लगा सकता है कि इस उम्र में दूसरी शादी करने का क्या मतलब है इसके पीछे कुछ ना कुछ कारण है मौखिक रुप से पहली पत्नी ने बताया कि इसके पूर्व जो मेरे पति तथा मेरी सौतन ने मुझे मारा पीटा था उस मामले में मेरे गांव के प्रधान हल्का के दरोगा व अन्य लोगों ने मामले को रफा दफा कर दिया था |

हम लोग किसी प्रकार से अपना जीवनयापन खाना पीना खा रहे हैं मेरा परिवार बहुत ही परेशान है मेरे पति के द्वारा हम लोगों को बराबर जान का खतरा बना हुआ है तथा मेरी संपत्ति को भी मेरी सौतन बेचवा कर हम लोगों को बर्बाद कर देना चाहती है आज हमारे लोगों के ऊपर जो हुआ है उसको मेरा परिवार सहन करने योग्य नहीं है |

रिपोर्ट – अवनीश कुमार मिश्रा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY