‘I Am Not A Sex Machine’ समाज में महिलाओं के जीवन के संघर्ष को उजागर करती यह कहानी |

0
586
आजकल हर तरफ महिला सुरक्षा, उसकी स्वतंत्रता और उसके अधिकारों की बात चल रही है, ऐसे में लोगों को समाज में महिलाओं के प्रति फैली पुरुष प्रधान मानसिकता से अवगत कराने और उसके जीवन के संघर्षों पर रोशनी डालती शार्ट फिल्म I am not a Sex Machine रिलीज़ हुई है |
शैलेन्द्र सिंह द्वारा लिखित और निर्देशित यह फिल्म लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY