मॉडल से नन बनी सोफिया हयात खान ने दिया बेतुका बयान, कहा- शिव को मैंने जन्म दिया है

0
261

मुंबई- मॉडल से नन बनी सोफिया हयात खान ने एक बेतुका बयान देकर सबको चौंका दिया है | दरअसल आपको बता दें कि सोफिया हयात खान ने अपने इन्स्टाग्राम पर लिखा है कि उन्होंने भगवान् शिव को जन्म दिया है |

बता दें कि जब से सोफिया हयात खान मॉडल से नन बनी हिया तभी से वे शांति और ईश्वर की खोज में दर-दर घूम रही है | इसी क्रम में आज सोफिया महाराष्ट्र के औरंगाबाद स्थित कैलाश मंदिर पहुँच गयी |

औरंगाबाद पहुंची सोफिया हयात खान ने अपने इन्स्टाग्राम अकाउंट पर लिखा है कि यहाँ आकर मेरे शरीर में एक नई उर्जा का संचार हो रहा है | मै सांस नहीं ले पा रही हूँ, मै काँप रही हूँ, कुछ अजीब सी चुम्बकीय शक्ति मुझे अपनी ओर आकर्षित कर रही है |

सोफ़िया आगे लिखती है कि जैसे-जैसे मै ओम नमः शिवाय का जाप कर रही हूँ मेरे भीतर एक उर्जा का संचार हो रहा है, आज से पहले कभी भी मुझे इस तरह की शक्ति का एहसास नहीं हुआ है आज मुझे ऐसा लग रहा है कि मैंने ही शिव को जन्म दिया है | शिव मुझसे ही है और यह पूरा ब्रह्मांड मै ही हूँ |

Kailash temple in Aurangabad is so so powerful. I couldn't breathe. I felt a massive magnetic energy draw my head to the Shiv Lingh. I was shaking for 1hr. I could not lift my head from the Shiv Lingh it was stuck like a magnetic. Something so powerful is happening. Om namah shivaya. My body is changing. Today I know I gave birth to Shiva. Today he came back to me and is inside me. I felt scared for such a big powerful change in my body. I am changing back to who I am. The Gods are coming back. The power in me is so great. Shiva is here inside me, I am inside the shiv lingham. It is so powerful I am shaking in my very soul. The time is here. Sacred children . The universe is me..is you you are everything. Om Namah shivaya According to Linga Purana, the lingam is a complete symbolic representation of the formless Universe Bearer – the oval shaped stone is resembling mark of the Universe and bottom base as the Supreme Power holding the entire Universe in it.Similar interpretation is also found in the Skanda Purana: "The endless sky (that great void which contains the entire universe) is the Linga, the Earth is its base. At the end of time the entire universe and all the Gods finally merge in the Linga itself." In yogic lore, the linga is considered the first form to arise when creation occurs, and also the last form before the dissolution of creation. It is therefore seen as an access to Shiva or that which lies beyond physical creation.

A video posted by Gaia Mother Sofia (@sofiahayat) on


हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here