मै अपनी बच्ची को बताउंगी कि उसका बाप एक बलात्कारी था

0
843

सन 2008,  मै सिर्फ 14साल की थी और मेरे 10वीं के एग्जाम बस खत्म ही हुए थे जब गाँव के एक आदमी ने मुझे कोल्डड्रिंक में नशीली दवा मिलाकर पिलाया और मेरे साथ रेप किया जिसके बाद मै प्रेग्नेंट हो गयी, मेरे परिवार ने एबॉर्शन के लिए मुझपर खूब दबाव डाला यहाँ तक की मेरे साथ मार – पीट भी की, रेप के 6 साल के बाद 2014 में एक महिला कोर्ट ने आरोपी को सात साल की कैद और 2 लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई |

 

पिछले दिनों अदालत ने मेरे आरोपी की जमानत याचिका पर फैसला सुनाते हुए यह कहकर जमानत दे दी कि वह मेरे साथ समझौता कर ले ताकि मेरा और मेरी बेटी का का जीवन संवर सके पर मै कभी ऐसे आदमी से समझौता नही करूंगी  और सारी जिन्दगी इस अन्याय के खिलाफ लडूंगी, मै अपनी बेटी को बताउंगी की मैंने जीवन में कितना संघर्ष किया है, अगर मैंने समझौता कर लिया तो हो सकता है अभी कुछ मदद मिल जाये पर जब मेरी बेटी बड़ी होगी तो मै उसे क्या जवाब दूंगी, सच जानकर वह कमजोर हो जाएगी और मै उसे कभी कमजोर पड़ते नहीं देखना चाहती बल्कि कठिनाइयों के बीच उसे दृढ़ बनाना चाहती हूँ, आज मेरी बेटी 6 साल की है, मै एक टेक्सटाइल फर्म में काम कर रही हूँ और अपनी बेटी की परवरिश कर सकती हूँ |

जब मेरे साथ रेप हुआ तो सारे गाँव, रिश्तेदार और दोस्त सभी ने मेरा बहिष्कार कर दिया ऐसा लगा जैसे रेप मेरी मर्जी से हुआ हो और यह सब मेरी गलती हो, मेरे साथ रेप करने वाले उस आदमी ने तब  तक अपना जुर्म नहीं माना जब तक डीएनए टेस्ट में साबित नही हो गया की रेप उसी ने किया है |

rape victim

जमानत का यह फैसला सही नहीं हैं मै तो इससे बिलकुल भी सहमत नही हूँ अदालत को कम से कम एक बार मेरा भी पक्ष सुनना चाहिए था, मैं पीड़ित हूँ और पिछले सात सालों से यह दर्द सह रही हूँ, यह कैसे हो सकता है जो शख्स पिछले 6 सालों में यह मानने को भी नही तैयार था कि यह उसी ने किया है आज मुझसे शादी करना चाहता है, जिसने हमारा जीवन बर्बाद कर दिया हमारा जीवन सुधारना चाहता है, सच्चाई तो यह है की वह सिर्फ बाहर आना चाहता है | पिछले सात सालों में जो दर्द और परेशानिया मैंने झेली हैं  उसका अंदाजा लगा पाना भी मुश्किल है, मै ऐसे इंसान को कभी माफ़ नहीं कर सकती  |

अदालत को यह समझना चाहिए था कि अगर पैसा ही सब कुछ होता तो यह कई तरीकों से कमाया जा सकता है लेकिन सवाल आत्म सम्मान का है वह खान से आयेगा कल जब मेरी बेटी को पता चलेगा और वह मुझसे पूछेगी मै कैसे उससे नजरें मिला पाऊँगी,  अदालत को अपना फैसला वापस ले लेना चाहिए  |

” जब भी मेरी बेटी मुझसे पूछती है मेरे पिता कहां हैं मै ख देती हूँ वो अब नहीं हैं, पर जब वो बड़ी और समझदार हो जाएगी तो मै उसे जरूर बताउंगी की उसका पिता एक बलात्कारी है “

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here