छोड़ेंगे न हम तेरा साथ ओ साथी मरते दम तक


बलिया (ब्यूरो) ‘छोड़ेंगे न हम तेरा साथ वो साथी मरते दम तक… मरते दम नहीं अगले जनम तक’ किसी जमाने की मशहूर फिल्मी गीत की यह पंक्तियां सोमवार को जीवंत नजर आयी। मरने के बाद भी आपस में लिपटे जोड़ों को देख हर किसी ने दांतों तले अंगुली दबा लिया। तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गयी। नरही थाना क्षेत्र अंतर्गत कोरन्टाडीह डाक बंगले के समीप गंगा नदी में प्रेमी युगल का शव मिलने से सनसनी फैल गयी। दुपट्टा के सहारे आपस में लिपटे जोड़े को देख हर कोई दंग था। काफी प्रयास के बाद युगल की शिनाख्त पाई।

सोमवार को मछुवारे गंगा नदी में जाल डाल कर मछली पकड़ रहे थे। इसी दौरान उनके जाल में युगल की लाश फंस गयी, जिसे देख मछुवारे जाल छोड़ कर भाग गए। इसकी सूचना मिलते ही नरही पुलिस मौके पर पहुंच गयी। गोताखोरों के सहयोग से शव को नदी से बाहर निकला गया। आपस में लिपटे युवक-युवती का शव देख हर किसी की आंखें खुली की खुली रह गयी। प्रथम दृष्टया पुलिस इसे आत्म हत्या करार दे रही है। लोगो में तरह-तरह की चर्चाएं है। दोनो शवों की शिनाख्त रामचंद्र राम पुत्र निर्मल राम व टीना पासवान पुत्री बृजनाथ राम निवासी ग्राम माचा, थाना भांवरकोल जिला गाजीपुर हुई है। दोनों की उम्र लगभग 20 वर्ष होगी। घटना स्थल पर एक बैग भी मिला, जिसमें कपड़ा भी था। मोबाइल बगैर सीम की थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here