जिले में हो रही है योगी के आदेशों की अनदेखी, तालाबों पर दबंगों का कब्ज़ा बरकरार

0
129
प्रतीकात्मक फोटो

सफीपुर/उन्नाव (ब्यूरो)- अवैध कब्जों को लेकर जहाँ योगी सरकार के कड़े निर्देश के बाद जहाँ नाममात्र तालाबो पर अपनी हल्की फुल्की प्रतक्रिया कर तहसील प्रशासन अपनी पीठ थपथपाने में लगी है वही दूसरी ओर सफीपुर तहसील क्षेत्र में कई ऐसे गांव है जहाँ पर विभागीय साठ- गांठ से तालाबो पर तालाब माफिया जबरन कब्जा किये है |

जब कोई बिभागीय अधिकारी जांच के लिए जाता है तो तालाब माफियाओ द्वारा अधिकारियो की जेब ग़रम कर दी जाती है | जिसके कारण आम-जनमानस का अधिकारियो पर से विस्वास उठता दिखाई पड़ रहा है| जमालुद्दीनपुर के कुछ ग्रामीणों की माने तो उन्नाव हरदोई मुख्य मार्ग पर अटवा और जमालुद्दीनपुर के मध्य दाहिनी ओर तालाब माफिया अधिकारियो की साठ गांठ से करवा रहे गेहू की खेती ।

कड़े निर्देश के बाद जहाँ नाममात्र तालाबो पर अपनी हल्की फुल्की प्रतक्रिया कर तहसील प्रशासन अपनी पीठ थपथपाने में लगी है | वही दूसरी ओर सफीपुर तहसील क्षेत्र में कई ऐसे गांव है | जहाँ पर बिभागीय साठ गांठ से तालाबो पर तालाब माफिया जबरन कब्जा किये है | जब कोई बिभागीय अधिकारी जांच के लिए जाता है तो तालाब माफियाओ द्वारा अधिकारियो की जेब ग़रम कर दी जाती है | जिसके कारण आमजनमानस का अधिकारियो पर से विस्वास उठता दिखाई पड़ रहा है |

जमालुद्दीनपुर के कुछ ग्रामीणों की माने तो उन्नाव हरदोई मुख्य मार्ग पर अटवा और जमालुद्दीनपुर के मध्य दाहिनी ओर तालाब माफिया अधिकारियो की साठ गांठ से करवा रहे गेहू की खेती जबकि उसी मुख्य मार्ग से रोज उच्चाधिकारियों का आना जाना रहता है फिर भी इन अधिकारियो के जु तक नही रेंगती । इसी तरीके से बम्हन्ना गांव के कुछ दबंगों ने भी तालाब को पूरी तरह से पाट कर रख दिया है | यहॉ तक देखने में पूरी तरह खेत नजर आता है अगर कोई किसान अवैध कब्जे दरी की शिकायत करने की कोसिस मात्र तक करता है तो उसको तुरन्त लठिया दिया जाता है दबंग गई इस कदर हाबी होने के कारण कोई किसान कुछ कहने मात्र से भी कतराता है |

इसी तरीके से सलीद,फत्तेपुर, अलाउद्दीन खेड़ा, सफीपुर ग्रामीण आदि अनेक गांव में लोग तालाब पाटने में जुटे हैं| इसी क्रम में अगर बात सफीपुर विकास खंड की करे तो कई गांव इस प्रकार के है| जहाँ पर भू माफियाओ ने तालाब को पाट के उसमे आलीशान मकान मनाये हुए है सरकारी महकमे का कोई भी अधिकारी जब जब मौके पर जाता है तो इसकी जेब गरम कर दी जाती है।

रिपोर्ट- राम जी गुप्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here