जिले में जोरों पर चल रहा अवैध खनन

0
73


सोनभद्र (ब्यूरो)– भले ही सूबे में सत्ता बदल गयी हो मगर प्रदेश में अधिकारी व कर्मचारी पुराने सत्ता के समय के तैनात हैं जो अभी भी पुराने सत्ता के हिसाब से अपने कार्य को निपटा रहे हैं। सोनभद्र में तैनात कई अधिकारी आज तक अपने पुराने रवैये के हिसाब से कार्य कर रहे हैं। ऐसा ही कुछ नजारा जुगैल थाना क्षेत्र में देखा जा रहा है ।

गायघाट के भठवा के पहाड़ी मे अवैध खनन इन दिनों जोरो से चल रहा। खुलेआम हो रहे अवैध खनन को रोकने के लिये कोई पहल भी नही की जा रही है। वजह जिनके ऊपर जिम्मेदारी इसे रोकने की है वे ही खुलेआम अवैध खनन को बढ़ावा देने में जुटे हैं। लिहाजा इन पहाड़ियो से अवैध खनन कर बोल्डर का प्रयोग सड़क, भवन एवं अन्य कार्यो मे किया जाता है।

दुरूह क्षेत्र होने के कारण अधिकारियो की ओर से कोई ध्यान नही दिया जाता। लोगों का कहना है कि इन पहड़ियो का पत्थर तोड़ कर गिट्टी बनाकर सड़क एवं पुल निर्माण में प्रयोग की जाती है । स्थानीय लोगों की माने तो अधिक गिट्टीयां ट्रैक्टर द्वारा बेचा जाता है। यहाँ से रोजाना सैकड़ो ट्रैक्टर गिट्टी बोल्डर बेचा जाता है । लोगों ने बताया कि विकास कार्य के नाम पर वन विभाग की मिलीभगत से अवैध खनन किया जा रहा है और इसमें उसका साथ देती है स्थानीय पुलिस । लोगों का कहना है कि प्रति ट्रैक्टर पैसा वसूला जाता है । इतना ही नहीं वन विभाग तो सड़क के लिए किमी0 के हिसाब से पैसा लेती है। यानि यह कहा जा सकता है कि वन विभाग पूरा जंगल को बेचने का काम कर रही है |

बहरहाल चुनाव में बड़े-बड़े दावे व वायदे करने वाले ओबरा विधायक इस पर कितना लगाम लगा पाते है यह तो वक्त बताएगा । मगर जब तक विधायक जी कुछ करने को सोचेंगे तब तक खनन माफिया, वन विभाग तथा पुलिस की तिगड़ी क्षेत्र से लाखों का खेल कर चुके होंगे ।

रिपोर्ट – ज़मीर अंसारी

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY