आधार कार्ड के नाम पर गरीब जनता से हो रही अवैध उगाही, सौ रुपए से लगाकर 150 रुपए तक की, फिर भी प्रशासन क्यों खामोश

0
34

जालौन (ब्यूरो) जनपद जालौन के उरई क्षेत्र में आधार कार्ड के नाम पर चल रही गरीब जनता से अवैध उगाही 100रुपए से लगाकर 150 रुपए तक की जाती है, जबकि आधार कार्ड निशुल्क और सरकारी खर्च पर बनता है अब तो आधार कार्ड आम जनता का अधिकार है मोबाइल सिम से लगाकर बैंक स्कूल व हॉस्पिटल और सरकारी काम काज में अनिवार्य हो चुका है |

जिसमें अभी भी हजारों की तादाद में ऐसे भी ग्रामीण व ग्रामीण महिलाएं और बच्चे हैं जिनके आधार कार्ड नहीं बने हुए हैं कुछ ऐसी कई दुकानें हैं जहां चल रही है आधार कार्ड बनवाने से लेकर निकलवाने और नाम बनवाने तक 100 रुपए से लगाकर 150 रुपए तक का अवैध पैसा लिया जाता है | जिसमें ग्रामीणों को आधार कार्ड ज्यादा आवश्यकता पड़ने के कारण मजबूरी में आकर अवैध पैसा देना पड़ता है, जिसमें सब कुछ जानते हुए स्थानीय प्रशासन खामोश रहता है |

बताते चलें आपको आधार कार्ड की दुकानें जिस किसी को भी एलाटमेंट होती है उस दुकानदार को आधार कार्ड कंपनी एक आधार कार्ड पर 25 रुपए देती है
जिसमें जनता को सरकार की तरफ से निशुल्क आधार कार्ड बनता है फिर भी आधार बनाने वाले दुकानदार जनता से आधार कार्ड के नाम पर अवैध उगाही करते हैं। जिसमें प्रशासन ने अभी तक अवैध् आधार बनाने वालो पर कोई कार्यवाही नही की है।

रिपोर्ट – कैलाश कुमार/मनोजकुमार

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY