बांगरमऊ तहसील क्षेत्र में गंगा एवं कल्याणी नदियों के किनारे हो रहा बालू के अवैध खनन का काम

0
98
प्रतीकात्मक

बांगरमऊ/उन्नाव(ब्यूरो)- बांगरमऊ तहसील क्षेत्र में गंगा एवं कल्याणी नदियों में बालू के अवैध खनन का काम धड़ल्ले से जारी है। बालू के साथ-साथ नालो एवं खेतों में मिट्टी का खनन भी खनन कर्ताओं द्वारा किया जा रहा है। इन खनन कर्ताओं द्वारा रोज नए-नए जुगाड़ों को अपनाकर इस कार्य को अंजाम दिया जा रहा है। किंतु इन खनन माफियाओं पर खनन करने पर लगी रोक का कोई असर देखने को नहीं मिल रहा है। आरोप है कि खनन माफिया पुलिस व राजस्व कर्मियों की सांठगांठ से अपने इस कार्य को अंजाम दे कर अवैध कमाई करने में मशगूल हैं।

बताते चलें कि बांगरमऊ तहसील में गंजमुरादाबाद ब्लॉक के गंगा कटरी के गहर पुरवा गांव से लेकर सफीपुर तहसील क्षेत्र के बंदी माता घाट तक गंगा नदी में एक नहीं दर्जनों ग्रामों के पास से नदी की बालू अवैध खनन के रूप में रोज निकाली जा रही है । पवित्र नदी गंगा के अलावा इस क्षेत्र की की दूसरी नदी कल्याणी व शारदा नहर और छोटे-छोटे नालों से भी बालू निकालने का काम खनन माफियाओं द्वारा किया जा रहा है। इसके अलावा नए बन रहे मकानों दुकानों और प्लाटों में मिट्टी भरने के लिए कृषि भूमि और ग्राम पंचायत की खाली भूमि से भी तहसील क्षेत्र के बांगरमऊ , फतेहपुर चौरासी, गंज मुरादाबाद में ट्रैक्टर-ट्रालियों से मिट्टी ढुलाई का काम जारी है। तहसील क्षेत्र में यह खनन माफिया खनन करने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं । यह माफिया नदियों से बालू लाने के लिए प्रमुख मार्गो को छोड़कर संपर्क मार्गो से वाहनों को निकाल रहे है । इसके अलावा बैलगाड़ियों व भैंसा गाड़ियों के माध्यम से नदियों से बालू उठा-उठा कर प्रमुख बाजारों में भवन निर्माण सामग्री बेचने वालों के यहां डंप की जा रही है। डंप की गई बालू इन दुकानदारों द्वारा महंगे दामों में लोगों में बेची जा रही है । मिट्टी खनन करने के लिए तहसील से 10 ट्राली का परमिट बनवाकर उस परमिट पर 50 से लेकर सौ ट्राली तक मिट्टी निकालकर खाली प्लाटों व बनाए जा रहे मकानों की खाली पड़ी भूमि में प्रयोग की जा रही है और मिट्टी लाने वाले ट्रैक्टर स्वामी मिट्टी लानें की मनमानी रकम वसूल कर रहे हैं ।

फतेहपुर चौरासी स्थित खडेहरा नाला व दोस्तपुर शिवली के नाले में भी मिट्टी खनन का काम किया जा रहा है। जबकि दोस्तपुर शिवली में कुछ माह पूर्व खनन करते वक्त टीला ढहने से एक की मृत्यु और अब तक घटित कई घटनाओं में दर्जनों लोग घायल भी हो चुके हैं। क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता विजय सिंह आरोप लगाते हैं कि दिन-रात मिट्टी खनन करने वाले लोग बेखौफ होकर अपने काम को अंजाम दे रहे हैं और यदि उनको कोई टोकता है तो उससे भी वह झगड़ा करने पर आमादा हो जाते हैं। यह कार्य ज्यादातर जोगी बिरादरी के लोग अधिक कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि की तहसील क्षेत्र के खनन माफियाओं की राजस्व प्रशासन व पुलिस से सांठगांठ रहती है जिससे रात में अधिक मात्रा में और दिन में कुछ कम मात्रा में बालू ढुलाई का काम बेधड़क किया जाता है । उनके इन आरोपों का खंडन करते हुए उप जिलाधिकारी इंद्रसेन यादव ने ने बताया कि तहसील क्षेत्र में जहां कहीं भी खनन की सूचना मिलती है, वहां तत्काल कार्यवाही की जाती है और अब तक खनन में लगे कई वाहन सीज किये जा चुके हैं तथा इसमें संलिप्त लोगों के खिलाफ कार्यवाही भी की गयी है।

रिपोर्ट- रामजी गुप्ता 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY