सार्वजनिक भूमि पर अवैध कब्जे, प्रशासन बेपरवाह

मऊरानीपुर/झाँसी(ब्यूरो)- प्रदेश सरकार द्वारा जारी आदेश के बाद भी क्षेत्र के कई ग्रामो की सार्वजनिक भूमि पर अबैध कब्जे जारी बने हुये है। साथ में चकरोड, शमशानघाट, पोखर, तालाब, आम रास्ता आदि अतिक्रमण की चपेट में है। जिन्हे हटवाने के लिये तहसील स्तरीय राजस्व टीम बनायी गयी फिर भी ग्रामीण कब्जा करने से बाज नही आ रहे है।

विवरण के अनुसार मऊरानीपुर तहसील क्षेत्र के ग्राम देवरीघाट मे सार्वजनिक भूमि रकवा 0.134 हेक्टेयर खलियान की जमीन पर ग्राम के ही दीनदयाल अहिरवार पुत्र नन्ने भईया द्वारा निजी बताकर उस पर चारदीवारी बनाई जा रही है। जिसकी जानकारी प्रधान बलवीर सिेह तोमर ने राजस्व विभाग व हल्का लेखपाल रामपाल राही को दी मौके पर पहुँची टीम ने जमीन की पैमाईस की जो सरकारी निकली लेकिन बनाई गयी दीवार को नही हटाया गया।

जिसकी सूचना सम्बन्धित विभाग को दी गयी।वही ग्राम बसरिया में भी कई हरिजन आवादी की भुमि पर ग्रामीणो द्वारा कब्जा किया जा रहा है। साथ में पूर्ववर्ती सरकार द्वारा काशीराम बरात घर पर ग्राम के ही तीन व्यक्ति द्वारा कब्जा कर चारा, भूसा, कंडा आदि रखे हुये है। ग्राम हरपुरा, पठा, ढकरवारा मे भी ग्रामीणो द्वारा सरकारी जमीन पर अबैध कब्जा किये हुये है तथा बरूआमाफ के धसान नदी के किनारे गाँव के ही लोगो द्वारा अबैध रूप से खंडा पत्थर तोडकर बेचे जा रहे हैं।

रिपोर्ट- रवि परिहार 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here