मेला अयोजन के नाम पर स्कूली बच्चों से लाखों की अवैध वसूली

0
44

सुल्तानपुर- बीजेपी की योगी सरकार के फरमान को हवा मे उड़ते हुए ट्रस्ट ने स्कूली बच्चे के माध्यम से लाखो रुपये वसूलने का दावँ चला है! मेला अयोजन के नाम पर 500 सौ रुपये की दर्जनो रसीद जारी कर अभिभावक की जेब पर डाका डालने का खेल गुपचुप हो रहा है। जबकि योगी सरकार प्राइवेट स्कूलो द्वारा अनर्गल मदो से वसूली पर रोक लगने के लिए दिशा निर्देश दिए थे।

गौरतलब है कि नगर के सिरवारा मार्ग पर स्थित सरस्वती शिशु वाटिका ने हाल ही में नैनिहालो के अभिभावक के नाम 500 की रसीद काटा है ।रसीद मे स्कूल का नाम न होकर “समुत्कर्षा बालिका शिविर ” के नाम से जारी रसीद मे उल्लेख किया गया है कि अग्रिम 27 जनवरी को परिसर प्रयाग इलाहाबाद में लगने वाली तीन दिवसीय मेला के सहायतार्थ या चंदा है ।

गौरतलब है कि समुत्कर्षी बालिका शिविर ने विधा भारती सेवा न्यास पूर्वी उ0प्र0 मे अपना कार्य श्रेत्र दिखलाया है।प्रदेश की राजधानी स्थित निराला नगर शान्ती कुन्ज मे भी संस्था अभिभावको की जेब से जबरन पैसा वसुलती है। आर्थिक मामलों के जानकर बतातें हैं कि शिक्षा और संस्कृतिक कार्यो के नाम पर यह ट्रस्ट हर मौके पर लाखो का वारा न्यारा करती है सरस्वती शिशु वाटिका जैसे सैकड़ों स्कूल पूर्व उ0प्र0के कई जिलो मे संचालित है।

हैरान कर देने वाली बात है यह ट्रस्ट अपने वेबसाइट पर कई राजनीतिक हस्तियो की फोटो अपलोड कर रखा है। सूबे के उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा की फोटो उक्त वेबसाइट खोलते ही नजर आने लगती है।कहना मुनासिब होगा कि उप मुख्यमंत्री की फोटो की आड़ मे बेवस अभिभावक से लाखो रुपये कि वसूली आसानी से हो जाती है ।दिनदहाड़े और बेख़ौफ हो रहे इस अन्धा धुंध अवैध वसूली के खिलाफ कार्यवाई करने के बजाय जिला प्रशासन भी मूक दर्शक बना हुआ है ।पता चला है कि स्कूल की शिक्षा व्यवस्था गुणवत्ता विहीन है। विद्यालय आज भी जीर्णशीर्ण और जर्जर दशा मे है। विद्यालय प्रशासन का सारा ध्यान अभिभावक कि धन का दोहन करना रहता है!

रिपोर्ट- सतीश कुमार यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here