शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार का बोलबाला, मानव संपदा फार्म भरने के लिए हो रही अवैध वसूली

0
56

सुल्तानपुर(ब्यूरो)- जिले में बेसिक शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार का बोलबाला कम होने का नाम नही ले रहा है| योगिराज में सख्ती का कोई असर नही है, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भी सब कुछ जानते हुए अंजान बने है।

जनपद के बेसिक शिक्षको से मानव संपदा फार्म भरने के लिए 100 से 150 रूपये की वसूली हो रही है| कुछ विकास खंड में विभाग के शिक्षक ही दलाली में लगे है तो कुछ विकास खंडों से शिक्षको से पहले जमा कराए गए फार्म अब उनको वापस कर खण्ड शिक्षा अधिकारी की सेटिंग वाली दुकान पर फ़ार्म भरने के लिए विवश किया जा रहा है, ऐसा इसलिए कि वही दुकानदार ही उस विकासखंड का फ़ार्म भर सकता है| जिसके पास उस विकास खंड का आईडी और पासवर्ड होगा विभाग द्वारा आवंटित गोपनीय आईडी और पासवर्ड प्राइवेट दुकानदारों को देकर अधिकारी जमकर दलाली में लगे है|

यही नही बी एस ए कार्यालय के आस पास ही प्राइवेट दुकानों पर 100 से 150 रूपये लेकर फार्म भराये जा रहे है जबकि सभी विकास खंडों पर कंप्यूटर ऑपरेटर इन सब विभागीय कार्यो के लिए नियुक्त है और उनको इस बात का वेतन भी मिल रहा है तो यह गोपनीय कार्य जिसमे शिक्षको की गोपनीय जानकारियां है| जो विभाग से बाहर प्राइवेट दुकानदारों को दी जा रही है भविष्य में अगर कोई अनियमितता या गड़बड़ी होगी तो इसका जिम्मेदार कौन होगा ? इस फार्म को भरने के लिए शासन से जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को लगातार आदेश के साथ साथ प्रतिदिन की प्रगति रिपोर्ट भी मांगी जा रही है लेकिन देरी किसलिए ही की जा रही है यह भी जांच का विषय है|

क्या है मानव संपदा ?
100 बिंदु वाले इस फार्म में शिक्षको की व्यक्तिगत व विभागीय गोपनीय जानकारी भराकर शिक्षको से जमा कराया गया था, जिसे अब मानव संपदा की वेबसाइट पर फीड करना है| जिससे एक क्लिक पर प्रदेश के किसी भी शिक्षक की पूरी सूचना मिल सके।

रिपोर्ट- संतोष यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY