प्रधान पद के लिए डाले गये वोट, मतपेटिका में कैद प्रत्याशियों का भाग्य 

बलिया(ब्यूरो)- शनिवार के दिन पचरूखा ग्रामसभा के प्रधान पद के चुनाव में मतदाताओ के बुथ पर पहुंचने का उत्साह प्रारम्भ में कम रहा लेकिन दस बजे के बाद जब महिलाएं घर के बाहर निकली तो अघैला के दो तथा पचरुखा के एक बूथ पर लम्बी लाइन लग गयी। यह सिलसिला दो बजे तक चला उसके बाद छिटपुट मतदाता आते रहे।

पचरुखा प्राथमिक विद्यालय पर नंदलाल ने पहला मतदान किया, जबकि इसी गांव की विवाहिता प्रियंका ने पहली बार अपने ससुराल में प्रधान चुनने के लिए अपना मत दिया इनके साथ इनकी ननद नीतू जो नयी वोटर बनी है वह वोट देने के बाद झूम उठी तथा बोली पहले अपनी मां के साथ वोट देने आती थी। 80 वर्षीय लखमुनिया देवी का बुढापे के चलते उसके पैर साथ नही दे रहे थे। पड़ोसी अछय ओझा को सहारा बनाया और मतदान स्थल निकल पड़ी। जब लोगों ने सवाल किया तो बोली श्बाबू वोट देब तबे राशन किरासन मिली तथा सड़क बनी, उसका इशारा कच्ची पगडंडी सड़क की तरफ था जो बरसात के दिनो में आवागमन में घोर कठिनाई गांव वालो को झेलनी पड़ती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here