हाँ ! मेरी आँखों के सामने बड़ी बहन को दादी और चाची ने गला दबा कर मार डाला था

0
83
प्रतीकात्मक

भदोही(ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में दो दिन पूर्व फांसी के फंदे से झूलती किशोरी के मामले में सोमवार को नया मोड आ गया । किशोरी की छोटी बहन ने हत्या की तहरीर दी है । उसने घर के परिजनों पर ही हत्या का आरोप लगाया है । जिसमें दादी, चाची और चाचा के नाम से तहरीर दी गई है । इस घटनाक्रम के बाद यह गुत्थी और उलझ गई है ।

जिले के दवनपुर गांव निवासी आनंद कुमार पांडे की छोटी पुत्री शिखा पांडे ने थानाध्यक्ष को प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि 13 मई को दोपहर बाद हमारी बड़ी बहन दीपा (13) को घर में ले जाकर हमारी दादी और अन्य परिजनों ने घर के अंदर मारपीट कर जबरदस्ती सादे कागज पर फांसी लगाना लिखवाया था। उसका आरोप है कि सुसाइड नोट लिखवाने के बाद मकान के अंदर चारपाई पर घर के ही एक व्यक्ति ने दीपा का अपने दाहिने हाथ से मुंह दबाया तथा एक आरोपी महिला ने गला दबाया। जबकि जान मारने की नीयत से दूसरी महिला ने गले में दुपट्टा फंसा कर अपने दोनों हाथों से खींच कर मेरी बहन को मार डाला।

उसने बताया कि उक्त घटना को मेरे द्वारा अपने आंखों से देखा गया था। देखने पर जब मैं रोने चिल्लाने लगी तो गला दबोचने वाली महिला ने हमको घसीटते व मारते हुए पड़ोसी के घर में बंद कर दिया और धमकी दिया की यह बात किसी से कहोगी तो तुमको भी तुम्हारी बहन की तरह मार कर सुसाइड नोट लिखवा दूंगी। उक्त मामले में मृतक किशोरी की मां सीमा पांडे ने भी अपने सास-ससुर तथा देवरानी पर हत्या का आरोप लगाया।

ज्ञात हो 13 मई को दीपा पांडे की लाश फांसी के फंदे से झूलती हुई कमरे में मिला थी। जिस कमरे में दीपा का शरीर फांसी के फंदे से लटका था उस कमरे का दरवाजा भी पूरी तरह से खुला हुआ था। घटना की सूचना मिलने पर ननिहाल पक्ष के लोग उसी दिन से हत्या किए जाने की बात कह रहे थे। जबकि पीएम रिपोर्ट में मौत का कारण हैंगिंग बताई गई थी। मृतका किशोरी दीपा की मां घटना की सूचना मिलने पर पुणे से रविवार को घर पहुंची। वही उक्त मामले में मृतक किशोरी के पिता के सूचना पर पीएम करवाया गया था। पुलिस का कहना है कि जाँच के बाद मुकदमा लिखा जाएगा ।

रिपोर्ट- राजमणि पाण्डेय 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY