मारने-पीटने व वर्दी का धौंस जताकर चालान करने के मामले में तीन तलब

0
58

सुलतानपुर। मजदूरी के लिए गए युवकों को मारने-पीटने व वर्दी का धौंस जताकर उनका चालान करने के मामले में एसीजेएम चतुर्थ मनीष निगम की अदालत ने आरोपियों के खिलाफ संज्ञान लिया है। जिसके उपरान्त उन्होंने दो सिपाही व एक होमगार्ड समेत सात आरोपियों को विचारण के लिए तलब किया है।

मामला कुड़वार थानाक्षेत्र का है। जहां के रहने वाली अभियोगिनी कुसुम शर्मा ने बीते 16 दिसम्बर की घटना बताते हुए अदालत में अभियोग दर्ज कराया। आरोप के मुताबिक उसका पुत्र रोशन शर्मा व जेठ का पुत्र सूरज गांव के ही ओम प्रकाश के यहां सूखा पेड़ काटने की मजदूरी पर गए थे। इस दौरान आरोपीगण विशाल, बजरंगी, रामकली, खुशबू ने उन्हें मारापीटा। अभियोगिनी कुसुम बीच-बचाव में गई तो उसे भी मारापीटा। यही नहीं आरोपियों पर थाने के सिपाही रामसजीवन यादव, अवधेश यादव एवं होमगार्ड मुन्ना उपाध्याय को मिलाकर अभियोगिनी के बेटे का ही फर्जी मामले में चालान कराने का आरोप है। इसी मामले में अधिवक्ता अच्छेराम यादव के तर्कों को सुनने के पश्चात न्यायाधीश मनीष निगम ने सभी आरोपियों को विचारण के लिए आगामी 7 मई के लिए तलब किया है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY