डीएम की समीक्षा बैठक में कई पर गिरी गाज

कुशीनगर: जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने विकास कार्यों में शिथिलता पर मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला कृषि अधिकारी समेत पांच अफसरों व अभियंताओं का वेतन बाधित करते हुए सीएमओ को प्रतिकृल प्रविष्टि दी है। डीएम ने कहा कि मुसहर बस्तियों के विकास का औचक निरीक्षण करने मुख्यमंत्री आ सकते हैं। अफसर अपने कार्यों के लिए स्वयं जिम्मेदार होंगे।

डीएम बुधवार को विकास भवन में शासन द्वारा संचालित विकासपरक योजनाओं की मासिक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान जर्जर विद्युत व्यवस्था को सुदृढ़ करते हुए ग्रामवार सर्वे कराकर व्यवस्था ठीक करने के लिए निर्देशित किया। चिकित्सा विभाग के सभी बिंदुओं की समीक्षा के दौरान गहन चर्चा की गई। एइएस व जेई की रोकथाम के लिए सख्त कदम उठाने के लिए निर्देशित करते हुए चिकित्सकों की कमी की पूर्ति के लिए शासन को मांग पत्र भेजे जाने का निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिया।

डीएम ने स्वास्थ्य विभाग के प्रगति कार्यों पर नाराजगी जताते हुए वेतन रोकने के साथ ही प्रतिकूल प्रविष्टि देने के लिए निर्देशित किया। इसी क्रम में एसीएमओ का भी वेतन रोक दिया। डीएम ने माध्यमिक शिक्षा अभियान के अंतर्गत भवन निर्माण कार्यों की धीमी प्रगति पर कार्यदायी संस्था यूपीपीएस को आवंटित धन को वापस करने के लिए निर्देशित किया तथा कहा कि धन वापसी न होने पर भवन निर्माण करा रहे ठेकेदार के विरुद्ध एफआईआर दर्ज होगा।

डीएम ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से अगली बैठक के पूर्व फोटोग्राफी के साथ सूचना की मांग करते हुए विद्युत विभाग के कार्यों पर असंतोष व्यक्त किया। कृषि विभाग के कार्यों की प्रगति धीमी होने पर असंतोष जताया और जिला कृषि अधिकारी का वेतन रोकते हुए स्पष्टीकरण लेने के लिए सीडीओ को निर्देशित किया। समीक्षा के दौरान डीएम ने ग्रामीण अभियंत्रण सेवा अधिशासी अभियंता के भवन निर्माण कार्यों की जांच के लिए सीडीओ को निर्देशित किया तथा राजकीय निर्माण सहायक संघ गोरखपुर के द्वारा भवन निर्माण कार्यों की जांच के लिए लोनिवि के एक्सियन सुल्तान अहमद को निर्देशित किया। डीएम ने न्याय पंचायत स्तर पर कैंप लगाकर आधार कार्ड बनवाने के लिए बीएसए व जिविनि को निर्देशित किया। आरइएस के वित्तीय अनियमितता पर वेतन रोकने व प्रमुख सचिव को पत्र भेजने के लिए निर्देशित किया। फोरलेन, राज्य मार्ग, जिला मार्ग की समीक्षा के दौरान सहकारिता के खिलाफ निदेशक को पत्र भेजने के लिए निर्देशित किया। हाटा में राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में विद्युतीकरण कार्य में शिथिलता पर संबधित कार्यदायी संस्था के अधिशासी अभियंता का वेतन रोकने के लिए निर्देशित किया।

जिलाधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री इस माह के अंत तक किसी भी समय मुसहर बस्ति का निरीक्षण कर सकते हैं। डूडा को रवींद्र नगर के साथ सभी नगर पालिका परिषद, नगर पंचायतों में एक-एक शौचालय बनवाने के लिए निर्देशित किया। समीक्षा बैठक में मुख्य विकास अधिकारी कृष्ण कुमार गुप्त, जिला विकास आधिकारी शेषनाथ चौहान, पीडी राजेंद्र प्रसाद, अर्थ एवं संख्याधिकारी चंद्रशेखर, एक्सियन लोनिवि सुल्तान अहमद समेत सभी जनपदीय अधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट- राहुल पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here