दो घटनाओं में 8 घर, 13 बीघे फसल व एक गाय जली

महराजगंज/रायबरेली(ब्यूरो)- तहसील क्षेत्र में दो अलग अलग आग की घटना में जहां 8 घरों की गृहस्थी जलकर खाक हो गयी वहीं लगभग 12 बीघे खड़ी गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गयी। घटना की सूचना पर पहुंचा तहसील प्रासन नुकसान का मोआयना कर रहा है। वहीं घटना स्थल पर दमकल न पहुंचने से ग्रामीणों में आक्रो व्याप्त है। तहसीलदार ने मामले में पीड़ितों को सरकार की ओर से मिलने वाली सम्भव मदद देने की बात कही है। पहली घटना कोतवाली क्षेत्र के पहरावां गांव की है। दोपहर अचानक संजय पुत्र बुधई के घर से आग की लपटे उठने लगी जब तक लोग आग बुझाने दौड़ते आस पास के घरों में भी आग ने अपना कोहराम मचाना शुरू कर दिया।

देखते ही देखते आग नें सात घरों को निाना बना डाला। घटना की सूचना पर पहुंची दमकल व ग्रामीणों की कड़ी मसक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। फिर भी जब तक आग पर काबू पाया जाता सात घरों सहित एक बीघा गेहूं की फसल व एक गाय जलकर खाक हो गयी। दलित बस्ती में लगी आग की चपरट में संजय पुत्र बुधई, राके पुत्र बुधई, रमे पुत्र श्यामलाल, श्यामलाल पुत्र महावीर, बुधई पुत्र महावीर, कोयल पत्नी स्व. रामखेलावन, सताना पत्नी हरीलाल व राम जियावन पुत्र ब्रजलाल के घरों की गृहस्थी जल गयी तो वहीं भारत पुत्र भगौती की लगभग एक बीघा गेहूं की खड़ी फसल जलकर नष्ट हो गयी।

वहीं राके की एक गाय भी आग की चपरट में जलकर मर गयी। वहीं दूसरी घटना पुरासी गांव की है। हाईटेंसन तार के गिर जाने से गेहूं के खेत में आग लग गयी। जब तक ग्रामीण आग पर काबू पाते लगभग 12 बीघे गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गयी। सूचना के बावजूद दमकल न पहुंचने पर ग्रामीणों में आक्रो दिखा। आग की चपरट में करूणांकर शुक्ल, मांराम सहित चार लोगो की फसले जलकर राख हो गयी। मामले में सूचना पर पहुंची तहसील की टीम नुकसान के अनुमान में जुटी है। तहसीलदार ने शासन द्वारा दी जाने वाली सहायता पीड़ितों तक जल्द पहुंचाये जाने की बात कहीं है।

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here