वाराणसी जयापुर गांव से “आरोग्य से आपदा प्रबन्धन”अभियान का हुआ अभ्युदय

0
83


वाराणसी (ब्यूरो) माननीय प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी की स्वस्थ्य भारत की परिकल्पना को साकार कर रही आरोग्य से आपदा प्रबन्धन अभियान की शुरुआत 16 जून को उनके वाराणसी संसदीय क्षेत्र में गोद लिए गांव जयापुर से हुआ।जिससे लोगो मे उल्लास व हर्ष का वातावरण था,भीषण गर्मी में भी ग्रामीणो ने लम्बी लम्बी कतारें लगा कर अपनी निशुल्क स्वास्थ की जांच करायी, इस अभियान का उदेश्य शहरी व ग्रामीण क्षेत्रो के पिछड़े इलाको में निर्धन, बेसहारा, अस्वस्थ, दिव्यांग, मजदूर, किसानो एंव विशेष कर महिलाओं व बच्चो को निशुल्क चिकित्सा सेवा,समग्र पैथालाजिकल जांच एंव आपदा प्रबन्धन का प्रशिक्षण प्रदान कर सबल, सक्षम एंव स्वथ्य समाज का निर्माण करना है, जिससे इन्हें प्राकृतिक एंव मानवकृत आपदा से सुरक्षित किया जा सके, इसके तहत चिन्हित स्थानो मे घर घर जाकर NDRF के विशेषज्ञ चिकित्सको द्वारा लोगो का इलाज ,पैथालाजिकल टेस्ट (CBC, लिपिड़ प्रोफाइल के K.F.T, L.F.T) विभिन्न बुखार सम्बन्धित जांच (टाइफाइड़, मलेरिया, डेगूं, वायरल बुखार इत्यादि) e.c.g व उच्च कोटि की निशुल्क दवाईयां वितरित की जा रही है और यूनाईटेड़ नेशन व स्विटजरलैण्ड से शिक्षा प्राप्त प्रशिक्षको के द्वारा आपदा प्रबन्धन की जानकारी भी दी जा रही है |

विगत नवम्बर 16 से इस अभियान के तहत उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ,गोरखपुर एंव चन्दौली जनपद में नक्सल प्रभावित,दुरस्त ग्रामीण एंव आदिवासी वनवासी क्षेत्र में निशुल्क चिकित्सा शिविर के तहत एक लाख साठ हजार लोगो को निशुल्क ईलाज,पैथालाजिकल जांच एंव उच्च कोटि कि दवाईयां दी जा चुकी है,वाराणसी के ग्राम जयापुर चिकित्सा शिविर की सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही की N.D.R.F के महानिदेशक आर.के. पचनन्दा, I. P.S ने आज आरोग्य से आपदा प्रबन्धन अभियान का सफल शुभारम्भ किया,जो कि इस अभियान के मुख्य नीतिकार व निर्माता है।इसके अतिरिक्त दीपक रतन I.P.S,I.G पुलिस वाराणसी और बी०बी०सिंह C.M.O. वाराणसी ने इस आरोग्य से आपदा प्रबन्धन कार्यक्रम को अपना सहयोग प्रदान किया और इसे सफल बनाने के लिए अपनी वचन बचनबद्धता को जाहिर किया, 11 N.D. R.F ने इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश के विभिन्न प्राकृतिक और मानविय आपदाओं के दौरान एक सौ० पैंसठ राहत व बचाव कार्य किये और इक्किस हजार दो सौ०उन्तिस लोगो के बहुमुल्य जीवन को बचाया,इन राहत बचाव कार्यो में इस सदी का सबसे बड़ा कानपुर का रेल हादसा, पूर्वाचल मे आयी भीषण बाढ़ तथा कानपुर बिल्डिंग कोलेप्स था जिससे अन्तराष्ट्रीय जगत में 11 N.D.R.F के प्रोफेशनल एस्पेक्ट की सराहना की गयी।उपरोक्त जयापुर गांव मे आयोजित इस चिकित्सा शिविर में 1263लोगो का सम्पूर्ण इलाज व सभी प्रकार की पैथालाजिकल जांच की गयी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY