दहेज में बुलेरों कार न मिलने पर बच्चों सहित घर से निकाला

0
43

जालौन(ब्यूरो)- दहेज में बुलेरों कार न मिलने पर ससुरालीजनों द्वारा शारीरिक व मानसिक रूप से परेशान किए जाने के बाद बेटी सहित घर से निकाल दिए जाने से परेशान पुत्री की शिकायत पिता ने कोतवाली पुलिस से की है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी हैं।

सगीर अहमद पुत्र बशीर अहमद निवासी भवानीराम कस्बा जालौन ने अपनी पुत्री सरीदा खातून का विवाह मुस्लिम समाज की रीति रिवाज के साथ 16 सितंमबर 2011 को स्थानीय कन्हैया धाम उत्सव गृह से आफताब पुत्र अनवार खां निवासी मुहल्ला बडागांव गेट झांसी के साथ किया था। पिता ने विवाह में 80 हजार रूपए, सोने चांदी के जेवरात, मोटर साइकिल एलईडी टीवी, वासिंग मशीन समेत तमाम धरेलु समान उपहार में दिया था। साथ ही शादी के बाद उन्होने बुलेरों कार मांग की तथा मांग पूरी न होने पर तलाक देने की धमकी देने लगे।

मायके से कार लाने के लिए आए दिन शारीरिक व मानसिक रूप से परेशान किया जाने लगा। 28 जून को दहेज की मांग पूरी न होने पर वह पांच वर्ष के बेटे प्रिंस तथा दो बर्ष की बेटी सहित उनकी पुत्री को ससुराल के लोग जबरन घर पर छोड गए है तथा ससुराल आने पर जान से मारने की धमकी दी। पिता की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने पति आफताब, ससुर अनवर खां, देवर आलताफ खां व अशरफ तथा बबली के खिलाफ महिला उत्पीडन, मारपीट, गाली गलौज, जान से मारने की धमकी के साथ दहेज की मांग करने का मामला दर्ज कर लिया है तथा मामले की जांच शुरू कर दी है।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY