बीमा प्रीमियम व आयकर छूट की बढ़ाएं सीमा

0
133

सुलतानपुर- केंद्रीय बजट से अधिकारी-कर्मचारियों से बड़ी उम्मीदें हैं। आयकर के दायरे में आने वाले अफसर छूट में और गुंजाइश देने की इच्छा रख रहे हैं। मंहगाई पर नियंत्रण और स्वास्थ्य व जीवन बीमा के प्रीमीयम में भी छूट की अपेक्षाएं हैं।

एक रिपोर्ट-
परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण शिवाकांत द्विवेदी कहते हैं कि अभी आयकर में छूट की सीमा 2.5 लाख है, इसे कम से कम पांच लाख रुपये तक किया जाना चाहिए। रियायत की सीमा भी बढ़ाई जानी चाहिए।

जिला पंचायत राज अधिकारी अर¨वद कुमार का कहना है कि केंदीय वित्त बजट में अधिकारी-कर्मचारियों की सेवा-सुविधाओं का ध्यान रखा जाना चाहिए। वेतन-भत्ते भी बढ़ाए जाएं। महंगाई पर नियंत्रण क लिए प्लान होना चाहिए।

विकास विभाग के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी इंद्रदेव त्रिपाठी कहते हैं कि इनकम टैक्स की रियायत में और इजाफा किया जाना चाहिए। स्वास्थ्य एवं जीवना बीमा के प्रीमीयम में वृद्धि कर्मचारियों के हित में होगी।

सहायक लेखाकार बृजेंद्र कुमार त्रिपाठी का कहना है कि पुरानी पेंशन स्कीम लागू किया जाना चाहिए। इसके इतर नए वेतनमान में महंगाई भत्ता और बढ़ाया जाए, कैशलेस इलाज की व्यवस्था पूरी तरह से लागू हो।
रिपोर्ट- दीपक मिश्र
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY