अब भारत कर सकेगा अमेरिकी हथियारों का प्रयोग, अमेरिका ने पड़ोसी देश के आतंक के खिलाफ मदद का किया वादा

0
4465

ashton-carter-

अमेरिका के दौरे पर गए रक्षामंत्री मनोहर परिर्कर इन ने भारत-अमेरिका के बीच हुए अहम् सैन्य एवं शस्त्र सम्बन्धी समझौतों की जानकारी देते हुए कहा कि अमेरिका ने भारत के पड़ोसी देश से हो रही आतंकी गतिविधियों से निपटने में भारत का पूर्ण सहयोग करने का वादा किया है |
महत्वपूर्ण रक्षा समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं, जिससे बाद अब दोनों देश रक्षा के क्षेत्र में एक-दुसरे के और निकट आ गए हैं, इया समझौते के बाद अब दोनों देशों की सेनायें मरम्मत और आपूर्ति के लिए एक दुसरे के सैनिक अड्डों और रिसोर्सेज का इस्तेमाल कर सकती हैं |

अमेरिकी रक्षा मंत्री अष्टां कार्टर और रक्षा मंत्री मनोहर परिर्कर ने संयुक्त रूप से जारी एक बयान में कहा कि दोनों देशों के बीच हुआ यह समझौता व्यावहारिक संपर्क, और आदान-प्रदान के लिए लिए नए अवसरों का निर्माण करेगा, इस समझौते से रक्षा प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अत्याधुनिक तकनीकि विस्तार होगा |

उन्होंने कहा भारत और अमेरिका के बीच हुआ एलईएमओए समझौता हमारे एक साथ काम करने को आसान बनता है, और इस समझौते के बाद हम सुगमता से एस-दुरे को साजो सामन तक पहुँच मुहैया कराते हैं, यह समक्षौता न सिर्फ जरूरी सहयोग को वित्तीय मदद देने के लिए अतिरिक्त माध्यम उपलब्ध कराता है, बल्कि इसके तहत अलग-अलग मामलों के लिए दोनों देशों की सहमति भी जरूरी है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY