सीनेट ने भारत को रणनीतिक रक्षा सहयोगी बनाने का प्रस्ताव रखा |

0
308
अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
                                                   अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी

भारत और अमेरिका के संबंधों को और मजबूत करने के लिए अमेरिका के शीर्ष सीनेट ने प्रस्ताव पेश किया है, यह प्रस्ताव भारत और अमेरिका के रक्षा संबंधों को मजबूत करने सम्बन्धी इस प्रस्ताव में भारत को अमेरिका का वैश्विक रणनीतिक और रक्षा सहयोगी का दर्जा देने का आग्रह किया है | रक्षा निर्यात नियंत्रण नियमों में बदलाव करते हुए सीनेटर जॉन मैक्केन ने नेशनल डिफेन्स ऑथराइजेशन एक्ट (NDAA) 2017 में संशोधन के लिए यह प्रस्ताव रखा है, मैक्केन सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति के अध्यक्ष भी हैं | ऐसा ही प्रस्ताव दूसरे सदन हाउस ऑफ़ रिप्रेजेंटेटिव में भी रखा गया है |

भारत की कड़ी प्रतिक्रिया से घबराया पाकिस्तान, कहा युद्ध कोई विकल्प नहीं
यह प्रस्ताव भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के दौरान पीएम मोदी द्वारा अमेरिकी कांग्रेस सत्र के संबोधन के बाद रखा गया प्रस्ताव पर सीनेट में अगले हफ्ते मतदान होने की संभावना है | इस प्रस्ताव के पीछे अमेरिकी कांग्रेस का उद्देश्य है कि दोनों देश सुरक्षा खतरों का सामना कर रहे हैं रक्षा संबंधों का मजबूत होना दोनों देशों के हित में है |
अमेरिकी कांग्रेस के मुताबिक भारत को वैश्विक सहयोगी के रूप में मान्यता देना अनिवार्य है | अमेरिका को भारत से सहयोग बढ़ाने और दक्षिण एशिया तथा प्रशांत क्षेत्र में रूचि बढ़ाने को प्राथमिकता देनी होगी |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY