अंतरिक्ष वेधशाला स्थापित करने वाला पहला विकासशील देश बना ‘भारत’

0
504

isro-logo

सोमवार सुबह करीब 10 बजे भारत के अंतरिक्ष विज्ञान प्रक्षेपण केंद्र इसरो ने “टर्बो चार्ज मिनी हबल टेलिस्कोप” (एस्ट्रोसेट)लांच करके विश्व के उन चार देशों में अपनी जगह बना ली है जिन्होंने अंतरिक्ष वेधशाला लांच किया है | अमेरिका, रूस और जापान के बाद भारत चौथा ऐसा देश है जिसने अपनी अंतरिक्ष वेधशाला लांच की है |

एस्ट्रोसेट पूरी तरह से खगोलीय पिंडों के अध्ययन के लिए समर्पित है, इसका मुख्य उद्देश्य

ब्लैक होल का अध्ययन करना है | PSLV-30 एस्ट्रोसेट के साथ छह अन्य उपग्रह लेकर अंतरिक्ष में जायेगा जिसमे से 4 अमेरिका, 1 इंडोनशिया और 1 कनाडा का है |

इसरो के अनुसार अन्रिक्ष वेधशाला के क्षेत्र में एस्ट्रोसेट उनका पहला मिशन है, इसमें चार एक्सरे पेलोड, एक अल्ट्रा वायलेट दूरबीन और एक चार्ज पार्टिकल मॉनीटर है। इसका वजन करीब 1513 kg है, इसको बनाने में करीब 180 करोड़ की लगत आई है |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

eighteen + 7 =