भारत अपनी सीमाओं की सुरक्षा करना जनता हैं – रक्षा मंत्री श्री मनोहर परिर्कर

0
368
रक्षा मंत्री श्री मनोहर परिकर
रक्षा मंत्री श्री मनोहर परिकर

 

हाल ही में पकिस्तान के रक्षा मंत्री के द्वारा एक चैनल को दिए गैरजिम्मेदाराना बयान पर पत्रकारों के द्वारा पूछे गये सवाल के जवाब में रक्षा मंत्री श्री मनोहर परिर्कर ने कहा हैं कि भारत को अपनी सीमाओं की सुरक्षा करना बहुत अच्छी तरह से आता हैं I और मैं अपने देश की सीमाओं की सुरक्षा किसी भी कीमत पर करूँगा I

उन्होंने आगे कहा हैं कि भारत का रक्षा मंत्री हूँ पाकिस्तान का नहीं और मैं अपने देश की रक्षा करने में सक्षम हूँ I

पत्रकारों ने जब रक्षा मंत्री से मुंबई हमलों के मुख्य आरोपी जकी-उर-रहमान लखवी के बारे में चीन के द्वारा सयुंक्त राष्ट्र संघ में लगाईं गयी रोक पर प्रतिक्रिया की मांग की तो उन्होंने इस पर कहा हैं कि यह मेरे मंत्रालय का मामला नहीं हैं इसलिए मैं इस पर सही तरह से जवाब नहीं दे पाउँगा I उन्होंने आगे कहा कि यह पूरा मामला प्रधानमंत्री और विदेश मंत्रालय का हैं I हालाँकि रक्षामंत्री ने यह भी कहा की प्रधानमंत्री श्री मोदी ने रूस में ब्रिक्स सम्मलेन के दौरान चीनी राष्ट्रपति से इस मामले पर अपना विरोध जताया हैं I

 

पत्रकारों ने जब रक्षा मंत्री से वन रैंक और वन पेंशन से सम्बंधित सवाल पूछा तो इस पर उन्होंने इस कहा कि रक्षा मंत्रालय के पास से काम पूरा हो गया हैं और हमनें इस पूरे मामले को वित्त मंत्रालय के पास भेज दिया हैं I आशा करते हैं कि जल्द ही सभी को इस बारे में अच्छी खबर प्राप्त हो जाएगी I

 

रक्षा मंत्री ने प्रेस वार्ता के दौरान दिए गए बयान में कहा हैं कि सरकार सेना को मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं उन्होंने कहा हैं कि हम आशा करते हैं कि भारत बहुत ही जल्द देश में ही निर्मित हथियारों की दम पर मोर्चा संभालेगी I उन्होंने आगे कहा हैं कि हम सेना को जल्द स्वदेश में ही निर्मित एंटी टैंक गन (धनुष) को सेना के हवाले करने वाले हैं I देश में इसका निर्माण कार्य प्रगति पर हैं I

 

रक्षा मंत्री ने कहा कि आजकल रक्षा मंत्रालय सात बिंदुओं पर विशेष ध्यान दे रहा है। भवन निर्माण नियमावली जल्द लागू होगी, जिससे लोग आधुनिक तरीके से अपने मकान बना सकेंगे। लीज का नवीनीकरण, ओल्ड ग्रांड संपत्तियों का म्यूटेशन और उनका ट्रांसफर भी होगा। यह भी कहा कि लखनऊ के गोमती नगर में पिछले दिनों कई साल से लंबित मामले को एनओसी दी गई। पिछले चार महीने में 48 एनओसी दी जा चुकी है। कैंटोनमेंट एक्ट और जमीन से जुड़े पेंच को लेकर रक्षा मंत्री खासे नाराज नजर आए। कहा कि यदि लीज के नवीनीकरण के लिए योजना बनने में देर हो रही है तब तक तो छावनी परिषद को भवन स्वामियों से लीज की फीस लेनी चाहिए। कैंटोनमेंट एक्ट 2006 के लागू होने के बाद बंद किये जाने वाले रास्तों को फिर से खोला जाएगा I

 

रक्षा मंत्री ने अपने बयान में कहा हैं की देश में आतंकवादी गतिविधियों का मुख्यकारण आर्थिक पिछड़ा पन और गरीबी तथा बेरोजगारी हैं I रक्षा मंत्री श्री मनोहर परिर्कर आज लखनऊ छावनी परिषद में अधिकारीयों तथा पार्षदों के साथ बैठक में उनके सामने आने वाली समस्याओं को सुन रहे थे I उन्होंने अपने बातचीत के दौरान कहा हैं कि हमारे देश के पिछड़े पन का फायदा उठाकर कुछ विदेशी ताकतें हमारे देश को तोड़ने का प्रयास कर रही हैं I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY