यूएन में गुप्त वीटो पर भारत ने जताई नाराज़गी, कहा जवाबदेही तय हो |

0
269

Syed-Akbaruddinजैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर पर प्रतिबन्ध की भारत की मांग पर चीन द्वारा अपना वीटो इस्तेमाल करने के मुद्दे को जोरदार तरीके से संयुक्त राष्ट्र संघ में उठाया है | भारत ने चीन का नाम लिए बगैर संयुक्त राष्ट्र में गुप्त वीटो के इस्तेमाल और इसके लिए जवाबदेही तय करने की मांग की है |
संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि वैश्विक संस्था संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों को आतंकवादियों के खिलाफ प्रतिबंध को रोकने का कोई कारण नहीं बताया गया। अलकायदा और आईएसआईएस प्रतिबंध समितियों की सर्वसम्मति और नाम गुप्त रखने की प्रक्रियाओं की समीक्षा की जरूरत है। इनके चलते जवाबदेही का अभाव होता है।
इससे पहले भी भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने एक बयान में पठानकोट आतंकवादी हमले के सरगना मसूद अजहर को काली सूची में डालने के उसके प्रयास पर चीन के वास्तविक वीटो की आलोचना करते हुए कहा था कि यह उस प्रतिबद्धता की छवि पेश नहीं करता, जो आतंकवाद रूपी महामारी को खत्म करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को दिखानी है। स्वरूप ने कहा था कि संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध समिति आंतकवाद से निपटने में चयनात्मक दृष्टिकोण अपना रही है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here